गेंद पर सैनिटाइजर लगाने के लिए इंग्लैंड में एक गेंदबाज को किया गया सस्पेंड

खेल डेस्कः कोरोना वायरस महामारी के बीच जैसे-तैसे क्रिकेट खेली जा रही है। यहां तक कि इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आईसीसी और हर देश के क्रिकेट बोर्ड ने तमाम नियम बनाए हैं, लेकिन खिलाड़ी इन नियमों को तोड़ रहे हैं। कोरोना वायरस की वजह से गेंद पर थूक लगाने तक पर पाबंदी है, लेकिन एक खिलाड़ी ने गेंद पर सैनिटाइजर लगा दिया। हालांकि, इसकी सजा भी इस खिलाड़ी को मिली और उसे निलंबित कर दिया है।

दरअसल, ऑस्ट्रेलिया में जन्मे इंग्लैंड के प्रथम श्रेणी क्रिकेटर मिच क्लेडन को गेंद पर कथित तौर पर सैनिटाइजर लगाने के लिए उनकी काउंटी टीम ससेक्स ने निलंबित कर दिया है। 37 साल के दाएं हाथ के तेज गेंदबाज मिच क्लेडन पर मिडिलसेक्स के खिलाफ पिछले महीने हुए मैच के दौरान गेंद पर सैनिटाइजर लगाने के आरोप लगे थे। उन्होंने इस मैच में तीन विकेट चटकाए थे। इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने इस मामले की जांच शुरू की है।

ईसीबी ने शुरू की जांच

ससेक्स ने अपनी वेबसाइट पर कहा, “मिडिलसेक्स के खिलाफ हमारे मैच के दौरान गेंद पर सैनिटाइजर लगाने के आरोपों की ईसीबी की जांच का नतीजा आने तक मिच क्लेडन को निलंबित किया जाता है। इस समय और कोई टिप्पणी नहीं की जा सकती।” हालांकि, ईसीबी की जांच पर भी काफी कुछ निर्भर करेगा, क्योंकि अभी इस खिलाड़ी पर आरोप लगे हैं, जिनको अभी न तो खिलाड़ी ने स्वीकार किया है और न ही ससेक्स ने कोई रिपोर्ट सौंपी है।

कोरोना वायरस महामारी के बीच कड़े स्वास्थ्य नियमों के तहत आईसीसी और विभिन्न देशों के क्रिकेट बोर्ड ने गेंद को चमकाने के लिए गेंद पर लार और थूक लगानेके इस्तेमाल को प्रतिबंधित किया है, लेकिन साथ ही किसी अन्य कृत्रिम पदार्थ के इस्तेमाल को भी स्वीकृति नहीं दी गई है। इस निलंबन के कारण यह अनुभवी तेज गेंदबाज सरे के खिलाफ टीम के अगले बॉब विलिस ट्रॉफी मैच में नहीं खेल पाएगा।

यह भी पढ़े :- BCCI ने किया IPL 2020 के Full Schedule का ऐलान, देखें मैचों की पूरी लिस्ट

Source link