इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए अजमाएं गिलोय, अन्य रोगों से भी मिलेगी राहत

Giloy ke fayde: महामारी को ध्यान में रखते हुए अब हर कोई अपनी इम्युनिटी का खास ख्याल रख रहा है। यही नहीं लोग अपनी इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए कई तरह के घरेलू नुस्खों के साथ-साथ महंगे प्रोडक्ट्स का भी यूज कर रहे हैं। जबकि आप कुछ सस्ते और आयुर्वेदिक चीजों की मदद से भी अपने इम्युनिटी बढ़ा सकते हैं। और आज हम आपके लिए एक ऐसे ही सस्ते और नेचुरल इम्युनिटी बूस्टर का नुस्खा लेकर आए हैं। आपको जानकर हैरानी होगी की इस इम्युनिटी बूस्टर का नाम है गिलोय की पत्तियां जिनकी मदद से आप अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता तो बढ़ाएंगे साथ ही आपको कई बीमारियों से भी राहत मिलेगी।

गिलोय की पत्तियों के फायदें (Giloy ke fayde)

गिलोय की पत्तियां दिखावट में बिल्कुल पान की पत्तियों की तरह लगती हैं। यही नहीं इन पत्तियों में कैल्शियम, प्रोटीन, फास्फोरस की प्रचुर मात्रा पाई जाती हैं। गिलोय की पत्तियां ही नहीं बल्कि गिलोय का तना भी कई गुणों का खजाना है। यह एक बेहतरीन इम्यूनिटी बूस्टर ड्रिंक है। यह काढ़ा आपको कई खतरनाक संक्रामक बीमारियों से भी प्रोटेक्ट करेगा। गिलोय की पत्तियों के जूस के सेवन (giloy ke fayde) से आप मेटाबॉलिज्म सिस्टम, बुखार, खांसी, जुखाम और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की समस्या से भी राहत पा सकते हैं।

सिर्फ यही नहीं गिलोय की पत्तियों की मदद से आप डेंगू जैसी खतरनाक बीमारी का भी इलाज कर सकते हैं। गिलोय एनीमिया की शिकायत से भी आपको दूर रख सकता है। इसके अलावा पीलिया के मरीज भी गिलोय की बेल का सेवन करके बुखार में राहत पा सकते है। कुछ लोग इसके चूर्ण को अपने गैस की परेशानियों से राहत पाने के लिए अपने डेली रूटीन में भी शामिल करते हैं।

गिलोय के काढ़े की रेसिपी (giloy ke fayde)

गिलोय का काढ़ा बनाना बेहद आसान है। इसके लिए आपको दो से तीन गिलोय की पत्तियां लेनी है। और उन्हें एक कप पानी में उबालना है। इस पानी को आप तब तक उबलते रहे जब तक पत्तियों का हरा रंग पानी में ना दिखने लगे। जब यह पानी हरे रंग में तब्दील हो जाए तो इसको एक कप में निकाल ले। अब इस पानी में थोड़ा सा नींबू और शहद मिला लें। आपका गिलोय का काढ़ा तैयार है। आप इसका सेवन आप गरम या फिर ठंडा करके भी कर सकते हैं।

Source link