PUBG Mobile को आखिरकार Google Play और App Store से हटाया गया

PUBG Mobile को Google Play और Apple App Store से हटा दिया गया है और अब यह दोनों प्लेटफॉर्म पर डाउनलोड करने के लिए उपलब्ध नहीं है। याद दिला दें कि बुधवार को भारत सरकार ने पबजी मोबाइल और अन्य 117 चीनी मूल के ऐप्स को भारत में प्रतिबंधित कर दिया था। खबर लिखते समय तक PUBG Mobile या PUBG Mobile Lite उन लोगों के लिए काम कर रहा है, जिनके पास यह पहले से डाउनलोड है। फिलहाल इसकी जानकारी नहीं है कि ये दोनों गेम उन डिवाइसों पर कब तक काम करेंगे, जिनमें ये पहले से इंस्टॉल हैं।

इससे पहले शुक्रवार को, Tencent ने कहा था कि कंपनी सरकार के साथ मोबाइल प्लेटफॉर्म पर PUBG वापस लाने के लिए बात-चीत कर रही है। पबजी मोबाइल के लिए भारत सबसे बड़े बाज़ारों में से एक है, जहां 50 मिलियन से अधिक डेली एक्टिव यूज़र्स हैं, हालांकि राजस्व का हिस्सा बहुत छोटा है। यहां तक कि भारत में कोरोनावायरस महामारी के कारण चल रहे लॉकडाउन में पबजी मोबाइल को और भी ज्यादा खेला जा रहा था। इसके ज़रिए युवा घरों में रह कर अपने दोस्तों के साथ समय बिता रहे थे और यह काफी हद तक डिज़िटल मेल-जोल का एक तरीका बन रहा था।

आईटी मंत्रालय ने बुधवार को एक प्रेस बयान जारी कर देश में चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की थी। बयान में कहा गया था कि प्रतिबंध “विभिन्न स्रोतों से कई शिकायतें प्राप्त करने के बाद लगाया गया था, जिसमें एंड्रॉयड और आईओएस पर उपलब्ध कई मोबाइल ऐप्स के दुरुपयोग के बारे में कई रिपोर्टें शामिल थीं, जिनमें यूज़र्स के डेटा को अनधिकृत तरीके से भारत के बाहर स्थापित सर्वरों पर भेजना भी शामिल था। सरकार का दावा है कि बैन किए गए ऐप्स “देश की संप्रभुता और अखंडता के लिए खतरनाक” हैं।

हालांकि, इससे अलग, भारतीय मोबाइल गेमर्स के लिए एक और दिलचस्प खबर सामने आई है। शुक्रवार को भारत में एक नए मोबइल गेम FAU-G की घोषणा हुई है, जो भारतीय मूल की गेम कंपनी द्वारा विकसित किया जा रहा है। यह देसी पबजी मोबाइल विकल्प होगा, जिसे बेंगलुरु-आधारित nCore Games द्वारा प्रकाशित किया जाएगा। FAU-G गेम को बढ़ावा देने के लिए भारतीय खेल उद्योग के दिग्गज विशाल गोंडल और अभिनेता अक्षय कुमार ने ट्विटर का सहारा लिया है। एफएयू-जी (बोलने में फौजी से मेल खाता नाम) फियरलेस एंड यूनाइटेड-गार्ड्स के नाम से जाना जाएगा और गेम को प्रोमोट करने वाले ट्वीट्स कहते हैं कि यह अपने राजस्व का 20 प्रतिशत सरकार की फंड-बढ़ाने वाली पहल ‘भारत के वीर’ को दान करेगा। हालांकि, एफएयू-जी कब रिलीज़ होगा, इसपर फिलहाल कोई शब्द नहीं है। यह भी स्पष्ट नहीं है कि गेम केवल मोबाइल डिवाइसों तक सीमित होगा या इसका पीसी वर्ज़न भी जारी किया जाएगा।

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

संबंधित ख़बरें

Source link