कोरोना महामारी से उत्तर प्रदेश की कैबिनेट मंत्री कमल वरुण का हुआ निधन

उत्तर प्रदेश की कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण (Kamal Rani Varun) का निधन हो गया है. 2 सप्ताह पहले उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव (Corona Report) आई थी जिसके बाद लखनऊ के संजय गांधी पीपीआई अस्पताल (Sanjay Gandhi Hospital) में उन्हें भर्ती कराया गया. शनिवार शाम उनकी तबियत अचानक बिगड़ गई जिसके बाद उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर शिफ्ट किया गया आज रविवार सुबह 9:00 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली. कमल रानी के निधन की पुष्टि एसजीपीजीआई के डॉक्टर अमित अग्रवाल ने की.

आपको बता दें आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राम मंदिर जन्मभूमि की तैयारियों का जायजा लेने के लिए अयोध्या का दौरा करने वाले थे लेकिन कमल रानी वरुण (Kamal Rani Varun) के निधन की सूचना मिलने के बाद यह दौरा स्थगित कर दिया गया है.
कमल रानी यूपी विधानसभा के सदस्य और सांसद भी रह चुकी हैं. वह योगी सरकार में टेक्निकल एजुकेशन मंत्री थी.
कमल वरुण (Kamal Rani varun) के निधन पर योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करके शोक प्रकट करते हुए लिखा है कि “उत्तर प्रदेश सरकार में मेरे सहयोगी कैबिनेट मंत्री श्रीमती कमल रानी वरुण जी के असमय निधन की सूचना, व्यथित करने वाली है. प्रदेश ने आज एक समर्पित जननेत्री को खो दिया. उनके परिजनों के प्रति गहरी संवेदना.”

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से ट्वीट करके लिखा गया कि कमल वरुण (kamal varun) का लखनऊ में इलाज के दौरान निधन हो गया है. वह 11वीं व 12वीं की लोकसभा के सदस्य थी. वरुण जी ने एक जनप्रतिनिधि के रूप में जन आकांक्षाओं का सम्मान रखा. मंत्री के रूप में विभागीय कार्यों को कुशलतापूर्वक निर्वहन करने में सराहनीय योगदान दिया है.” मंत्री कमला रानी वरूण का पार्थिव शरीर लखनऊ से सीधे कानपुर जाएगा. वहां पर कोविड प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार किया जाएगा. 18 जुलाई को उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी तब से ही वह लगातार ऑक्सीजन और छोटे वेंटिलेटर सपोर्ट पर थी. 62 वर्षीय कमल ने राजनीति पार्षद के रूप में अपने करियर की शुरुआत की थी.

Read more: Rajasthan Crisis : गहलोत सरकार ने राजधानी को छोड़ जैसलमेर को ही क्यों चुना ? जाने इनसाइड स्टोरी



Source link