राम मंदिर भूमि पूजन के लिए काउंटडाउन शुरू, ऐसा है निमंत्रण पत्र

अयोध्या. 5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन (Ram mandir bhoomi poojan) कार्यक्रम का सभी देशवासियों को बेसब्री से इंतजार है. कार्यक्रम से संबंधित सभी तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी है साथ ही इस भव्य कार्यक्रम का निमंत्रण पत्र (invitation card) भी सामने आ गया है. लगभग 200 लोग इस कार्यक्रम में शामिल होंगे. इन सभी मेहमानों को यह पीले रंग का निमंत्रण पत्र श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से भेजा जा रहा है.
स्वामी जितेंद्रानंद सरस्वती जी महाराज को भेजे गए इस पत्र में लिखा है कि “अयोध्या में आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र भाई मोदी द्वारा 5 अगस्त 2020 को श्री राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण का कार्य प्रारंभ किए जाने वाले ऐतिहासिक क्षण का आमंत्रण देते हुए अत्यंत हर्ष और उल्लास का अनुभव कर रहे हैं. हम आपसे सादर अनुरोध करते हैं कि आप इस शुभ अवसर पर उपस्थित रहने के लिए दिनांक 4 अगस्त 2020 को सायंकाल तक कारसेवकपुरम, जानकीघाट, परिक्रमा मार्ग, अयोध्या पधारने की कृपा करें.”

आपको बता दें कार्यक्रम में शामिल होने के लिए नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को 11:15 बजे अयोध्या पहुचेंगे. सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री सबसे पहले हनुमानगढ़ी जाएंगे उसके बाद रामलला के दर्शन करेंगे फिर राम मंदिर के भूमि पूजन का कार्यक्रम शुरू किया जाएगा. इस दौरान पीएम लगभग 2 घंटे से अधिक समय अयोध्या में ही बिताएंगे.
कार्यक्रम के दौरान मंच पर सिर्फ 5 लोग ही मौजूद रहेंगे. पीएम नरेंद्र मोदी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत गोपाल दास.
राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन 5 अगस्त को है लेकिन अयोध्या में उत्सव की शुरुआत 3 अगस्त से ही हो जाएगी. पूरे अयोध्या में दिवाली जैसा माहौल बना हुआ है.
इसी के साथ संघ प्रमुख मोहन भागवत, बीजेपी नेता उमा भारती, यूपी के पूर्व सीएम कल्याण सिंह, राम मंदिर आंदोलन से जुड़ी रहीं साध्वी ऋतंभरा, बाबरी मस्जिद के मुद्दई रहे इकबाल अंसारी और राजेंद्रदेवाचार्य भी कार्यक्रम में शामिल होंगे.
कार्यक्रम के दौरान कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए सोशल डिस्टेंस के नियमों का भी पालन किया जाएगा. 50-50 लोगों के अलग-अलग ब्लॉक बनाए गए है जिसमें 200 लोग मौजूद होंगे.

Source link