रोज-रोज राशन लाने से परेशान शख्स खरीद लाया ट्रक भरकर चावल, आगबबूला पत्नी ने कर दी हालत खराब | recipe – News in Hindi

रोज़-रोज़ घर का राशन लाने से अच्छा है एक ही बार थोक में सामान खरीद लिया जाए. सुनने में यह बात तो बिल्कुल ठीक लगती है. लेकिन थोक में भी कितना सामान खरीदा जाए, इसकी भी एक सीमा है. बेहिसाब खरीददारी काम आसान करने की जगह मुसीबत बढ़ा भी सकती है. ऐसा ही कुछ हुआ लेखक शिव रामदास के एक रिश्तेदार के साथ, जिसका पूरा हाल उन्होंने सिलसिलेवार ट्वीट्स में बखूबी बयान किया है.

लेखक शिव रामदास (Author Shiv Ramdas) के ये ट्वीट्स इन दिनों खासे वायरल हो रहे है. उन्होंने अपने ट्विटर अकांउट (Twitter account) पर कुछ ट्वीट किए थे, जिसमें बताया था कि उनके जीजा ने रोज-रोज चावल खरीदने से बचने के लिए एक ट्रक भरकर सागा चावल (Saga Rice) खरीद लिए. इसमें उन्होंने बताया कि चावल खरीदने के दौरान और उसके बाद उनके जीजा जी को कितनी परेशानियों का सामना करना पड़ा.

शिव रामदास ने अपने ट्वीट में बताया कि उनकी बहन अपने पति को रोज चावल खरीदने के लिए दुकान पर भेजती थी, जिससे परेशान होकर उन्होंने एक दिन एक पूरा ट्रक चावल खरीद लिया और उसे घर ले आए.

शिव रामदास ने बताया कि उनके जीजा जी ने चावल बेचने वाले दुकानदार से चावल की कीमत को लेकर बारगेनिंग की और फिर एक ट्रक चावल खरीदकर घर ले आए.

चावल के बोरों से भरा ट्रक जब घर के सामने पहुंचा तो उनकी पत्नी बहुत नाराज हुईं. पत्नी की उन्हें इतनी खरी-खोटी सुनाई कि उनके चेहरे का रंग ही मानो उड़ गया.

इसके बाद उन्होंने दुकानदार से चावल वापस लेने की मांग की, लेकिन बात नहीं बनी.  इसके बाद उन्होंने एक मेस वाले से संपर्क किया, जिसने थोड़े चावल तो खरीद लिए. अब आलम यह है कि बाकी बचे चावल वह हर आने-जाने को गिफ्ट कर रहे हैं. लेखक शिव रामदास बताते हैं कि इस घटना के बाद वह जब भी अपनी बहन के घर गए, उनके जीजा उन्हें चावल गिफ्ट देकर भेज रहे हैें.

रामदास के इन ट्वीट को लोग खासा पसंद कर रहे है. उनके सबसे पहले ट्वीट को अभी तक 2 लाख से ज्यादा बार लाइक किया जा चुका है. वहीं कई यूजर्स ने उनके ट्वीट पर कई रोचक कमेंट भी लिखे हैं.



Source link