Haryana

हरियाणा सरकार का बड़ा ऐलान, अब सोनीपत और झज्जर में 5 फरवरी शाम 5 बजे तक इंटरनेट सेवा रहेगी बंद

मनोहर लाल खट्टर सरकार ने किसान आंदोलन की वजह से इंटरनेट सेवा पर बैन लगाया था.

मनोहर लाल खट्टर सरकार ने किसान आंदोलन की वजह से इंटरनेट सेवा पर बैन लगाया था.

हरियाणा सरकार (Haryana Government) ने अब 5 फरवरी शाम 5 बजे तक राज्‍य के दो जिलों सोनीपत और झज्जर में इंटरनेट बंद करने का फैसला लिया है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    February 4, 2021, 6:59 PM IST

चंडीगढ़. हरियाणा सरकार (Haryana Government) ने किसान आंदोलन (Farmer Protest) के मद्देनजर इंटरनेट बैन की समय सीमा को बढ़ा दिया है. सरकार ने अब 5 फरवरी शाम 5 बजे तक इंटरनेट बंद करने का फैसला लिया है. इस दौरान प्रदेश के दो जिलों सोनीपत और झज्जर में इंटरनेट सेवा बंद रहेंगी. यहां वॉयस कॉल को छोड़कर इंटरनेट सेवाओं (2जी/3जी/4जी/सीडीएमए/जीपीआरएस), एसएमएस सेवाओं (केवल ब्लक एसएमएस) और मोबाइल नेटवर्क पर दी जाने वाली सभी डोंगल सेवाओं को बंद करने की अवधि 5 फरवरी, 2021 शाम 5 बजे तक के लिए बढ़ा दी है.

बता दें कि बुधवार को मनोहर लाल खट्टर सरकार ने पानीपत और चरखी दादरी में इंटरनेट सुविधाओं को बहाल कर दिया था. जबकि कैथल, जींद, रोहतक, सोनीपत और झज्जर में इंटरनेट पर पाबंदी जारी रखी थी, लेकिन इस आदेश से अंदाजा लगाया जा सकता है कि आज कैथल, जींद और रोहतक को बैन के दायरे से बाहर कर दिया है.

पानीपत और चरखी दादरी में इंटरनेट सुविधाओं के संबंध में अधिक जानकारी साझा करते हुए एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया था कि दूरसंचार अस्थायी सेवा निलंबन (लोक आपात या लोक सुरक्षा) नियम, 2017 के नियम 2 के तहत इंटरनेट सेवाएं बंद करने के आदेश दिए गए हैं. बीएसएनएल (हरियाणा अधिकार क्षेत्र) सहित हरियाणा की सभी टेलिकॉम सेवाएं देने वाली कंपनियों को इस आदेश का पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं. क्षेत्र में शांति बनाए रखने और सार्वजनिक व्यवस्था में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी को रोकने के लिए यह आदेश जारी किए गए हैं. कोई भी व्यक्ति इन आदेशों के उल्लंघन का दोषी पाया गया तो वह संबंधित प्रावधानों के तहत कानूनी कार्रवाई के लिए उत्तरदायी होगा. प्रवक्ता ने बताया कि राज्य सरकार ने एसएमएस, व्हाट्सएप, फेसबुक ट्विटर आदि विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्मों के माध्यम से दुष्प्रचार और अफवाहों के प्रसार को रोकने के लिए इंटरनेट सेवाओं को बंद करने का निर्णय लिया है.

इससे पहले 17 जिलों में इंटरनेट सेवाओं पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी गई थी, जिसमें अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, करनाल, कैथल, पानीपत, हिसार, जींद, रोहतक, भिवानी, चरखी दादरी, फतेहाबाद, रेवाड़ी और सिरसा शामिल थे. इन जिलों में वॉयस कॉल को छोड़कर इंटरनेट की सभी सेवाएं 30 जनवरी, 2021 शाम 5 बजे तक के लिए बंद करने का निर्णय लिया गया था.







Source link

Leave a Reply