Haryana

हरियाणा पुलिस के कोरोना योद्धाओं को दी गई कोविड वैक्सीन की डोज, पुलिस के इस अधिकारी को लगा पहला टीका

हरियाण पुलिस के कोरोना फ्रंटलाइन वारियर्स को आज से टीकाकरण का अभियान शुरू किया गया.
(सांकेतिक तस्वीर)

हरियाण पुलिस के कोरोना फ्रंटलाइन वारियर्स को आज से टीकाकरण का अभियान शुरू किया गया.
(सांकेतिक तस्वीर)

हरियाणा पुलिस (Haryana Police) के कोरोना योद्धाओं को कोविड वैक्सीन (Covid Vaccine) लगाने का अभियान आजसे शुरू हुआ. पंचकूला (Panchkula) के पुलिस मुख्यालय में सबसे पहला टीका डीजीपी हरियाणा (DGP Haryana) को लगाया गया. इसके बाद अन्य विभाग के अधिकारियों को भी टीका लगाया गया.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    February 4, 2021, 7:23 PM IST

चंडीगढ़. हरियाणा पुलिस (Haryana Police) के कोविड-19 (Covid-19) फ्रंटलाइन योद्धाओं के लिए आज से कोरोना वैक्सीनेशन (Corona vaccination) अभियान शुरू किया गया. इस टीकाकरण की शुरुआत पुलिस मुख्यालय (Police Headquarter) पंचकूला से की गई. कोरोना का पहला टीका पुलिस महानिदेशक (DGP) हरियाणा मनोज यादव को लगाया गया. इसके साथ ही कोरोना महामारी का टीका दूसरे पुलिस अधिकारियों को भी लगाया गया.

हरियाणा पुलिस के डीजीपी मनोज यादव ने टीका लगवाने के बाद पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों का हौसला बढ़ाया. इसके बाद, डीजीपी राज्य सतर्कता ब्यूरो, पीके अग्रवाल, डीजीपी क्राइम मोहम्मद अकील, एडीजीपी प्रशासन और आईटी  एएस चावला, एडीजीपी सतर्कता अजय सिंघल, आईजीपी डॉ. एम रवि किरण और आईजीपी  राजिंदर कुमार, सीपी पंचकूला सौरभ सिंह सहित अन्य पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों ने टीका लगवाया.

बड़ी खबर: हरियाणा सरकार का बड़ा ऐलान, अब सोनीपत और झज्जर में 5 फरवरी शाम 5 बजे तक इंटरनेट सेवा रहेगी बंद

डीजीपी ने कहा कि जब कोविड महामारी अपने चरम पर थी, तब पूरी पुलिस फोर्स ने निरंतर अग्रिम पंक्ति में रहकर लगातार कार्य किया. प्रदेश में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के अलावा, हमारे प्रत्येक अधिकारी और जवान ने निडर होकर गरीब और जरूरतमंद व्यक्तियों को भोजन, प्रवासी श्रमिकों और मजदूरों की सुरक्षित घर वापसी और बुजुर्गों की देखभाल करना सुनिश्चित किया. लॉकडाउन में पुलिस का मानवीय चेहरा सामने आया और पुलिस के प्रयासों को राष्ट्रीय स्तर पर भी पहचान मिली. उन्होंने कहा कि कोरोना के चलते अब तक लगभग 3000 राज्य पुलिस कर्मचारी संक्रमित हो चुके हैं, जिनमें से फ्रंटलाइन पर काम कर रहे 14 पुलिस कर्मियों को कोविड-19 के कारण अपनी जान गंवानी पड़ी.भ्रम न रखें, वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित
डीजीपी ने कहा कि कोरोना से जंग जीतने के लिए देश में 40 लाख से अधिक व्यक्तियों को पहले ही यह इंजेक्शन दिया जा चुका है और यह पूरी तरह से सुरक्षित है. डीजीपी ने समस्त पुलिस बल के साथ-साथ आम जनता से अपील करते हुए कहा कि वे इस महामारी के खिलाफ टीकाकरण अभियान में आगे आएं और आने वाले दिनों में टीका अवश्य लगवाएं. साथ ही अन्य को भी जागरूक करें ताकि किसी के मन में टीकाकरण को लेकर भ्रम की स्थिति न रहे.







Source link

Leave a Reply