Haryana

Kurukshetra Haryana: KUK students’ work will get news even after email is full, answer seats can be uploaded on Google form | ईमेल फुल होने पर भी मिलेंगी आंसर सीट्स, गूगल फार्म पर की जा सकती हैं अपलोड

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Kurukshetra Haryana: KUK Students’ Work Will Get News Even After Email Is Full, Answer Seats Can Be Uploaded On Google Form

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कुरुक्षेत्र13 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

हरियाणा के कुरुक्षेत्र स्थित कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय का प्रवेशद्वार। -फाइल फोटो

  • सितंबर में लाखों परीक्षार्थियों द्वारा उत्तरपुस्तिका अपलोड करने पर कई विभागों के मेल बॉक्स फुल हो गए थे

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय कुरुक्षेत्र की ओर से सितंबर माह में ली गई ऑनलाइन परीक्षाओं में ईमेल पर उत्तरपुस्तिका अपलोड करने में आई समस्याओं को देखते हुए इस बार गूगल फार्म का इस्तेमाल करने का फैसला लिया गया है। ऐसे में इस बार परीक्षार्थियों को प्रश्न पत्र भी गूगल फार्म पर ही उपलब्ध करवाए जाएंगे। इसके लिए संबंधित अधिकारियों को इसका ऑनलाइन प्रशिक्षण भी दिया गया है। अब संबंधित अधिकारियों की ओर से परीक्षा से पहले गूगल फार्म का लिंक तैयार कर सभी परीक्षार्थियों के पास भेजना होगा।

विश्वविद्यालय की तरफ से सितंबर में ऑनलाइन परीक्षाएं ली गई थी, इनमें परीक्षार्थियों के पास घर बैठे ही प्रश्नपत्र पहुंचाए गए। इसके बाद परीक्षार्थी को उत्तर पुस्तिका स्कैन करने के बाद संबंधित परीक्षा केंद्र के लिए तैयार की गई ईमेल आईडी पर अपलोड करनी थी। इसमें लाखों परीक्षार्थियों की ओर से ईमेल पर उत्तरपुस्तिका अपलोड करने के चलते कई विभागों के मेल बॉक्स फुल हो गए थे। ऐसे में परीक्षार्थियों की ओर से भेजी गई मेल बाउंस हो रही थी। इसी के चलते कई दिनों तक उत्तर पुस्तिकाओं की जांच करने और अन्य समस्याएं खड़ी हो गई थी। अब कुवि ने इस समस्या का हल निकाल लिया है।

अब 21 दिसंबर से विश्वविद्यालय की तरफ से ब्लैंडिड मोड में परीक्षाएं लिए जाने का फैसला किया है। इसके लिए तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। इस बारे में विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डॉ. हुक्म सिंह ने बताया कि इस बार परीक्षाएं गूगल फार्म पर ली जाएंगी। इससे एक साथ उत्तर पुस्तिका अपलोड करने पर मेल बॉक्स फुल होने की समस्या का भी समाधान हो जाएगा।

डॉ. सिंह ने बताया कि गूगल फार्म पर उत्तर पुस्तिका अपलोड करने पर यह सीधे गूगल ड्राइव में जाएगी। इसमें स्पेस की कोई समस्या नहीं होती। उन्होंने कहा कि परीक्षार्थी को किसी भी तरह की दिक्कत नहीं आने दी जाएगी। इसके लिए पहले ही संबंधित कालेजों के स्टाफ को प्रशिक्षण भी दिया गया है।

Source link

Leave a Reply