Haryana

dead body of former councilor Harish Sharma found after 75 hours with the help of Panipat NDRF, was jumped due to police case | NDRF की मदद से 75 घंटे बाद मिला पूर्व पार्षद हरीश शर्मा का शव, पुलिस से परेशान होकर नहर में कूदे थे

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Dead Body Of Former Councilor Harish Sharma Found After 75 Hours With The Help Of Panipat NDRF, Was Jumped Due To Police Case

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पानीपत34 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पानीपत में पूर्व पार्षद हरीश शर्मा के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाती पुलिस टीम।

  • गुरुवार सुबह करीब सवा 9 बजे गोहाना रोड से गुजरती पश्चिमी यमुना नहर में छलांग लगाई थी तीन बार पार्षद रह चुके हरीश शर्मा ने
  • बचाने कूदे डिपो होल्डर राजेश की भीगई जान, हरीश को पटियाला से आए गोताखोर नहीं ढूंढ पाए तो गाजियाबाद से आई NDRF की टीम

पानीपत में पुलिस केस से परेशान होकर नहर में छलांग लगाने वाले पूर्व पार्षद एवं भाजपा नेता हरीश शर्मा का शव रविवार दोपहर ढूंढ लिया गया। इस काम में पिछले तीन दिन से गोताखोर बोट और बिना बोट के लगे हुए थे, लेकिन जब कामयाबी हासिल नहीं हुई तो फिर एनडीआरएफ ने मोर्चा संभाला। आखिर 75 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद NDRF ने खूबड़़ू गांव के पास से हरीश के शव को ढूंढ निकाला। इस मामले को लेकर हरीश शर्मा की पार्षद बेटी ने गंभीर आरोप लगाए हैं, जिनकी उच्च स्तरीय जांच का क्रम जारी है।

गुरुवार सुबह करीब सवा 9 बजे गोहाना रोड से गुजरती पश्चिमी यमुना नहर में छलांग लगा दी थी।

गुरुवार सुबह करीब सवा 9 बजे गोहाना रोड से गुजरती पश्चिमी यमुना नहर में छलांग लगा दी थी।

बता दें कि लगातार 3 बार पार्षद रह चुके हरीश शर्मा ने गुरुवार सुबह करीब सवा 9 बजे गोहाना रोड से गुजरती पश्चिमी यमुना नहर में छलांग लगा दी थी। उन्हें बचाने के लिए डिपो होल्डर राजेश शर्मा नहर में कूदे तो उनकी डूबने से मौत हो गई। राजेश का शव शुक्रवार को ही निकाल लिया गया था, वहीं हरीश को ढूंढने के लिए पिछले चार दिन से गोताखोरों की विशेष टीम मशक्कत करती रही।

पटियाला से भी बुलाए गए गोताखोर हरीश को ढूंढ नहीं सके तो गाजियाबाद से NDRF टीम को बुलाया गया। खुबड़ू के पास से अभियान शुरू किया गया था, जिसमें रविवार को करीब साढ़े 11 बजे कामयाबी मिली। इस दौरान हरीश के परिजनों और समर्थकों की सांसें अटकी रहीं। उन्हें उम्मीद थी कि आज हरीश शर्मा का कुछ पता जरूर चल जाएगा और वैसा ही हुआ भी है।

रीश शर्मा की पार्षद बेटी ने गंभीर आरोप लगाए हैं, जिनकी उच्च स्तरीय जांच का क्रम जारी है।

रीश शर्मा की पार्षद बेटी ने गंभीर आरोप लगाए हैं, जिनकी उच्च स्तरीय जांच का क्रम जारी है।

बेटी अंजली ने लगाए हैं एसपी पर आरोप
हरीश शर्मा की पार्षद बेटी अंजली ने एसपी मनीषा चौधरी पर आरोप लगाए हैं। अंजली का कहना है कि उन्होंने व पिता ने अनिल विज से कहा था कि तहसील कैंप में अवैध खुर्दे चल रहे हैं। तब विज ने SP से कहा था कि कार्रवाई करें। इसके बाद से SP उनसे रंजिश रखने लगीं। मौका तलाशा जाने लगा। आखिरकार उन पर केस दर्ज कर लिया। इस तनाव में पिता ने नहर में छलांग लगा दी। उन पर पटाखा बेचने, फर्दी फाड़ने जैसे गलत आरोप लगाए गए।

6 तारीखों के घटनाक्रम से अंजलि ने पुलिस प्रताड़ना का दावा किया

  • 7 सितंबर: पिता हरीश शर्मा के साथ एसपी से मिलीं। वार्ड में चल रहे शराब के अवैध खुर्दे, अफीम की तस्करी, जुए के अड्डे चलने की शिकायत देकर चौकी इंचार्ज बलजीत मलिक को हटाने की मांग की थी। इसके बाद से बलजीत पीछे पड़ गए।
  • 8 सितंबर: अगले ही दिन चौकी इंचार्ज बलजीत मुख्य राेड छोड़ हमारे वार्ड व घर के पास गलियाें में वाहनों के चालान काटने लगे।
  • 23 अक्टूबर: फतेहपुरी चौक पर रामलीला के दौरान लाइसेंसी बंदूक लेकर मंच पर चढ़ने पर पिताजी के दो साथियों पर केस दर्ज कर एक को जेल भेज दिया।
  • 26 अक्टूबर: हनुमान स्वरूप के साथ 4 ढोल वाले थे। बलजीत ने सभी को उठा लिया। पिताजी गए तब छोड़ा।
  • 27 अक्टूबर: गृह मंत्री अनिल विज स्काईलार्क आए हुए थे। पिताजी ने एसपी की शिकायत SP के सामने ही गृह मंत्री को कर दी। इसके बाद एसपी ने हमें निजी दुश्मन मान लिया।
  • 14 नवंबर: दिवाली की शाम वार्डवासी पटाखा बेच रहे थे। पिताजी ने खुद कहा कि इसे बंद करो, लेकिन मौके की ताक में बैठे बलजीत ने जान-बूझकर हमें ही फंसाया।

CCTV फुटेज में दिखा- 18 की रात हरीश के घर के आसपास घूमती रहीं पुलिस की 4 गाड़ियां

अंजलि ने दावा किया कि 17 नवंबर को गृहमंत्री विज के आदेश के बावजूद भी परिवार पर पुलिस ने दबाव जारी रखा। 18 नवंबर की रात पुलिस व सीआईए वालों ने दहशत फैलाई। पुलिस की 4 गाड़ियां घर के आसपास घूमती रहीं और परिवार पर नजर रखे रही। यह सब CCTV कैमरों में रिकॉर्ड हुआ है। सभी जगहों से CCTV फुटेज इकट्‌ठी कर SIT को देंगे।

शव घर पहुंचने के बाद रोड जाम करके नाराजगी जताते हरीश के प्रियजन।

शव घर पहुंचने के बाद रोड जाम करके नाराजगी जताते हरीश के प्रियजन।

गुस्साए लोगों ने लगाया जाम

उधर, हरीश शर्मा का शव पोस्टमॉर्टम के बाद जैसे ही तहसील कैंप उनके निवास पर लाया गया, वहां हजारों की संख्या में लोगों ने इकट्ठे होकर जीटी रोड जाम कर दिया। लोग पुलिस प्रसाशन के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। भारी भीड़ को देखते हुए पुलिस बल को हेलमेट और लाठी-डंडों के साथ तैनात किया गया है।

Source link

Leave a Reply