Haryana

Dr. even after stay Construction work going on at Ambedkar statue site, SDM bid – court orders will be maintained | स्टे के बाद भी चल रहा निर्माण कार्य, SDM बोलीं-अदालत के आदेशों की होगी पालना

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गुहला चीका5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

हाईकोर्ट द्वारा दिए स्टे के बावजूद डाॅ. भीमराव अंबेडकर की मूर्ति स्थल पर निर्माण कार्य कर रहे राज मिस्त्री व मजदूर।

विधायक ईश्वर सिंह द्वारा चीका के लड़कों वाले स्कूल में स्थापित करवाई जा रही डाॅ. भीमराव अंबेडकर की मूर्ति का निर्माण कार्य रोकने को लेकर वीरवार को हाईकोर्ट ने स्टे देते हुए 25 नवंबर को सुनवाई निर्धारित की है। हाईकोर्ट द्वारा वीरवार को दिए गए स्टे के बावजूद शुक्रवार शाम चार बजे तक मूर्ति स्थापना वाली जगह पर निर्माण कार्य चल रहा था। अदालत के आदेशों की पालना करवाने और चल रहे निर्माण को रुकवाने की किसी भी अधिकारी ने जरूरत नहीं समझी।

इस मामले के पक्षकार जगजीत सिंह ने कहा कि उन्होंने अदालत द्वारा दिए स्टे की काॅपी शुक्रवार सुबह ही एसडीएम गुहला, बीईओ गुहला व स्कूल प्रिंसिपल कार्यालय में जमा करवा दी है। स्टे के बावजूद निर्माण करना अदालत के आदेशों की अवहेलना करना है। बता दें कि इस मामले में जगजीत सिंह द्वारा लगाई गई याचिका पर पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय की तरफ से नोटिस जारी किए गए थे।

जिनमें मुख्य सचिव हरियाणा सरकार, सीएस शिक्षा विभाग हरियाणा, निदेशक स्कूल शिक्षा विभाग हरियाणा, डीसी कैथल, डीईओ कै थल, एसडीएम गुहला, तहसीलदार गुहला, खंड शिक्षा अधिकारी गुहला, सचिव नगर पालिका, प्रिंसिपल सरकारी स्कूल चीका, विधायक ईश्वर सिंह व मूर्ति लगाने वाली संस्था के प्रधान रुलदू राम आदि शामिल रहे।

मूर्ति को लेकर नहीं, नियमों के विरुद्ध कार्य का विरोध
इस मामले को अदालत तक लेकर गए चीका निवासी जगजीत सिंह ने कहा कि उनका परिवार डाॅ. भीमराव अंबेडकर द्वारा बनाए गए संविधान को मानने वाला है। मेरा विरोध मूर्ति स्थापना को लेकर नहीं, बल्कि स्कूल की जमीन को गलत तरीके से कब्जा करने को लेकर है। जगजीत सिंह ने कहा कि स्कूल की जमीन बचाने के लिए आखिरी दम तक लड़ेंगे।

पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट जारी किए गए आदेश आज प्राप्त हुए हैं। इन आदेशों की सख्ती से पालना करवाने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दे दिए हैं। -शशी वसुंधरा, एसडीएम गुहला

Source link

Leave a Reply