Haryana

BJP लव-जिहाद जैसे ‘तुगलकी फरमान’ लाकर कर रही महज प्रोपेगेंडा: कुमारी शैलजा

 Pardeep Sahu

चरखी दादरी. कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी शैलजा दादरी में दिवंगत पूर्व राज्यपाल और पहली महिला सांसद चंद्रावती के निधन पर शोक व्यक्त करने पहुंची. उन्होंने चंद्रावती के परिजनों को कांग्रेस नेता राहुल गांधी का शोक पत्र भी सौंपा. उन्होंने कहा कि चंद्रवती के निधन को देश और प्रदेश के साथ-साथ कांग्रेस पार्टी को भी क्षति पहुंची है. वे हरियाणा में महिलाओं की प्रेरणा श्रोत रही हैं. शैलजा ने इस दौरान पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि प्रदेश की गठबंधन सरकार द्वारा लोगों का ध्यान भटकाने के लिए लव-जिहाद जैसे कानून बनाने का प्रोपेगेंडा किया जा रहा है.

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी शैलजा ने खट्टर सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि इस सरकर ने प्रदेश में किसान-मजदूर की हालत बद से बदतर कर दिया है. बाजरा और कपास की एमएसपी रेट पर खरीद के लिए रजिस्ट्रेशन वाले किसानों को फिर से परेशानी हो रही है. किसानों पर रोज नए नियम थोपे जा रहे हैं. ऐसी जनविरोधी सरकार की नीतियों को बरौदा की जनता ने आइना दिखाया है. क्योंकि जनता ने जिस भरोसे से भाजपा व जजपा को सत्ता दी, उसका उलट हो रहा है. जनता के साथ ही छल किया जा रहा है. हालात ऐसे हैं कि हरियाणा में ना शासन दिया और ना ही प्रशासन, सिर्फ कुशासन ही कुशासन है.ये भी पढ़ें: Rajasthan Unlock 6.0: 30 नवंबर तक स्कूल-कॉलेज बंद, गहलोत सरकार ने जारी किए अहम निर्देश

कांग्रेस कार्यकारिणी गठन को लेकर कही ये बात

शैलजा ने हरियाणा में कांग्रेस पार्टी की कार्यकारिणी गठन को लेकर कहा कि जल्द ही संगठन और स्ट्रेक्चर तैयार करेंगे. पहले स्टेट व जिला कार्यकारिणी का गठन करेंगे, फिर ब्लॉक स्तर की. इस बार संगठन में पुराने अनुभवी व नए चेहरों को भी शामिल किया जाएगा. शैलजा ने कांग्रेस पार्टी में फूट होने के सवाल पर कहा कि कांग्रेस की विचाराधारा के चलते लोग लगातार पार्टी से जुड़ रहे हैं. विरोधी पार्टियों के नेता ऐसे भ्रम फैला रहे हैं. दूसरी पार्टियों की तरह कांग्रेस तानाशाह पार्टी नहीं है. उन्होंने कहा कि हरियाणा की गठबंधन सरकार राइट टू रिकॉल जैसे तानाशाही फरमान दे रही है. सरकार को लोगों की सुननी नहीं सिर्फ अपने मन से ऐसे तानाशाही फरमान सुनाती है. अब जनता इस सरकार को आगामी चुनावों में ऐसे फरमानों का जवाब देेगी.



Source link

Leave a Reply