Haryana

Artist Varun Tandon salutes Balbir Sr on his birthday by making 23 by 15 feet portrait with hockey and ball . | आर्टिस्ट वरुण टंडन ने 10 अक्टूबर को जन्मदिन पर हॉकी और बॉल के साथ 23 बाय 15 फीट पोट्रेट बनाकर किया बलबीर सीनियर को सलाम

  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Artist Varun Tandon Salutes Balbir Sr On His Birthday By Making 23 By 15 Feet Portrait With Hockey And Ball .

चंडीगढ़3 घंटे पहले

वरुण ने इससे पहले बलबीर सीनियर के देहांत पर भी पोट्रेट बनाया था। ये उन्होंने लकड़ी के साथ तैयार किया था और ये लकड़ी एक हॉकी स्टिक से ही ली गई थी।

  • वरुण टंडन ने दस दिन में तैयार किया सीनियर का पोट्रेट, सेक्टर-42 स्टेडियम में किया डिस्पले
  • वरुण ने कहा कि बलबीर सीनियर देश के स्टार हैं और उनकी कामयाबी को कभी भी भुलाया नहीं जा सकता

(गौरव मारवाह). तीन बार के ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट बलबीर सीनियर भले ही अब हमारे बीच में नहीं हों लेकिन उनकी याद आज भी सभी के दिल में कायम है। एक आर्टिस्ट वरुण टंडन ने 10 अक्टूबर को उनके जन्म दिन के मौके पर उनका पोट्रेट बनाया जिसे उन्होंने सेक्टर-42 हॉकी स्टेडियम में डिस्पले किया। सीनियर का ये पोट्रेट 23 बाय 15 फीट का है और इसे खास तरीके से वरुण ने तैयार किया है।

वरुण ने कहा कि बलबीर सीनियर देश के स्टार हैं और उनकी कामयाबी को कभी भी भुलाया नहीं जा सकता है। मैंने दस दिन में इस पोट्रेट को तैयार किया है। इसके लिए मैंने एक हॉकी स्टिक और एक बॉल का इस्तेमाल किया है। मैंने बॉल को रंग में भिगोया और उसके बाद स्टिक की मदद से उसे तैयार किया। सीनियर बहुत ही खास हैं और वे आज भी उनके चाहने वालों के दिलों में मौजूद हैं। वरुण ने इससे पहले बलबीर सीनियर के देहांत पर भी पोट्रेट बनाया था। ये उन्होंने लकड़ी के साथ तैयार किया था और ये लकड़ी एक हॉकी स्टिक से ही ली गई थी।

तीन बार दिलाया ओलंपिक गोल्ड

बलबीर सिंह सीनियर ने तीन बार देश को ओलंपिक गोल्ड मेडल दिलाया है। उन्होंने पहला गोल्ड 1948 ओलंपिक में दिलाया और ये पहला मौका था जब किसी जगह पर भारत का तिरंगा लहराया गया था। इसके बाद 1952 ओलंपिक में भी उन्होंने देश को गोल्ड मेडल दिलाने में अपनी भूमिका अदा की। 1956 ओलंपिक में बलबीर सीनियर को भारतीय टीम का कप्तान बनाया गया था और इस बार भी उन्होंने किसी को निराश नहीं किया। उन्होंने फिर से गोल्ड मेडल जीता और गोल्डन हैट्रिक पूरी की।

Source link

Leave a Reply