Karnal 10 September Murder Case Updates: His Patners Killed, Police Revealed | करनाल में प्रॉपर्टी विवाद में पार्टनर ने सड़क पर जाते देखा तो कार से कुचल दिया, पहले हादसा लगा लेकिन जांच हुई तो हत्या का खुलासा हुआ

करनालएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

पुलिस गिरफ्त में तीनों आरोपी, जो इस घटना में शामिल थे।

  • करनाल में 10 सितंबर की रात को घूमने निकले दो साथियों को कार से कुचला गया था, 1 की मौत हई थी
  • पुलिस ने शुरुआत में हादसा माना, लेकिन परिवार ने एसपी को मिलकर हत्या होने का शक जताया था

करनाल में 10 सितंबर की रात को दो युवकों को एक कार ने कुचल दिया था। हादसे में दोनों युवक घायल हो गए थे। एक ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। देखने में यह पूरी घटना हादसा लग रही थी लेकिन परिवार वालों ने हत्या का शव जताया। वे एसपी से मिले। एसपी ने इसकी जांच सीआईए टीम को सौंप दी। सीआईए ने गहनता से जांच की तो पूरी घटना हादसा नहीं हत्या निकली।

इसमें कार से कुचलने वाला कोई और नहीं बल्कि घायल युवक का पार्टनर निकला, जिसने प्रॉपर्टी विवाद के चलते इसे अंजाम दिया था। पुलिस ने अब मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

मृतक युवक रोबिन।

मृतक युवक रोबिन।

ये था पूरा मामला
10 सितंबर की रात को करनाल की रामबाग कॉलोनी का रहने वाला रोबिन अपने साथी अरविंद के साथ रात में टहलने निकला था। अज्ञात कार चालक द्वारा हरियाणा नर्सिंग होम से कुछ दूरी पर दोनों को कुचल दिया गया। सिविल लाइन थाने में अज्ञात कार चालक पर मुकदमा दर्ज किया गया। 11 सितंबर को रोबिन नागपाल पुत्र सतीश कुमार की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई जबकि अरविंद का इलाज जारी है।

इस कार से टक्कर मारी गई थी।

इस कार से टक्कर मारी गई थी।

परिवार को शक था हादसा नहीं हत्या हुई
परिवार वालों को शक था कि रोबिन की मौत हादसे में नहीं बल्कि उसकी हत्या की गई है। इसको लेकर परिवार वाले पुलिस अधीक्षक करनाल से मिले। पुलिस अधीक्षक द्वारा मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच की जिम्मेवारी सीआईए-1 को सौपी। पुलिस टीम द्वारा गहन तफतीश करते हुए आसपास के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज का मुआयना किया।

घटना की कड़ी जोड़ते हुए पुलिस ने तीन आरोपी राजकुमार उर्फ राजू बठला वासी रामबाग कॉलोनी, गौरव पुत्र विनोद कुमार वासी रूप कॉलोनी, नीरज पुत्र जितेन्द्र वासी हरिराम एन्क्लेव को गिरफ्तार किया। पूछताछ के दौरान आरोपी राजकुमार बठला ने बताया कि मेरा व अरविन्द का आपस में कुंजपुरा रोड पर स्थित दुकान को लेकर काफी समय से विवाद चल रहा था।

उसने बताया कि 10 सितंबर को मैं और मेरे दो साथी नीरज व गौरव मेरे साथ नीरज की गाड़ी में बैठ कर जा रहे थे। गाडी मैं चला रहा था, रास्ते मे मैंने अरविन्द व उसका दोस्त रोबिन जाते दिखाई दिए। मैने रंजिश के कारण अरविन्द को जान से मारने की नियत टक्कर मारी, इस टक्कर में अरविन्द के साथ रोबिन को भी टक्कर लगी। उसके बाद मैं अपने साथियों सहित गाड़ी से फरार हो गया। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और कोर्ट में पेश करेगी।

0

Source link