सीएम फ्लाइंग ने आरसी और लाइसेंस बनाने वाले दलालों के ठिकानों पर की छापेमारी, एक गिरफ्तार | charkhi-dadri – News in Hindi

सीएम फ्लाइंग ने आरसी और लाइसेंस बनाने वाले दलालों के ठिकानों पर की छापेमारी, एक गिरफ्तार

सीएम फ्लाइंग की टीम मौके पर कार्रवाई करती हुई.

चरखी दादरी (Charkhi Dadri) में गुप्त सूचना के आधार पर सीएम फ्लाइंग (CM Flying) ने कोर्ट परिसर में आरसी (RC) और ड्राइविंग लाइसेंस (Driving License) बनाने वाले दलालों के ठिकानों पर छापा मारकर एक दलाल को गिरफ्तार किया है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 15, 2020, 5:58 PM IST

चरखी दादरी. सीएम फ्लाइंग (CM Flying) ने दादरी (Dadri) के कोर्ट परिसर में आरसी (RC) और ड्राइविंग लाइसेंस (Driving License) बनाने वाले दलालों के ठिकानों पर कार्रवाई की है. इस दौरान टीम ने एक दलाल को गिरफ्तार भी किया है. दलाल के कब्जे से टीम ने वाहनों की आरसी, ड्राइविंग लाइसेंस और नंबर प्लेंट जब्त किया है. टीम ने एसडीएम ऑफिस के दो क्लर्कों से भी पूछताछ की है.टीम ने इस पूरे मामले को सिटी पुलिस के हवाले कर दिया गया है. वहीं पुलिस ने केस दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी है.

सीएम स्क्वायड को गुप्त सूचना मिली थी कि दादरी एसडीएम कार्यालय में क्लर्कों की मिलीभगत से दलालों के माध्यम से वाहन रजिस्ट्रेशन, ड्राइविंग लाइसेंस बनाए जा रहे हैं. सूचना के आधार पर सीएम फ्लाइंग के सदस्य सब इंस्पेंक्टर कर्मबीर सिंह और अनूप सिंह की अगुवाई में खुफिया विभाग के साथ मिलकर छापेमार कार्रवाई की गई. टीम ने कोर्ट परिसर में दलालों के ठिकानों पर कार्रवाई करते हुए तैयार वाहनों की आरसी, ड्राइविंग लाइसेंस और वाहनों की नंबर प्लेटों को जब्त किया है.

ऑनलाइन वाहन खरीदने वाले हो जाएं सावधान! जामताड़ा की तर्ज पर मेवात, UP और राजस्‍थान में सक्रिय हुआ गैंग

सीएम फ्लाइंग की कार्रवाई के दौरान एसडीएम कार्यालय और कोर्ट परिसर में हड़कंप मच गया. टीम के सदस्य सब इंस्पेक्टर अनूप सिंह ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार कार्रवाई की गई है. एसडीएम कार्यालय के कर्मचारियों के साथ मिलकर दलालों द्वारा अवैध रूप से ज्यादा पैसे लेकर वाहनों के रजिस्ट्रेशन और ड्राइविंग लाइसेंस बनवाए जा रहे हैं, जिसके आधार पर कार्रवाई की गई है. उन्होंने बताया कि प्रदीप यादव नाम के टाइपिस्ट दलाल को गिरफ्तार किया गया है. उसके पास से आरसी, ड्राइविंग लाइसेंस और नंबर प्लेट भी बरामद की गई हैं. प्रदीप को काबू करते हुए पूरा मामला सिटी पुलिस को सौंपा है. सिटी पुलिस ने मामले में केस दर्द्वाज कर जांच शुरू कर दी है.



Source link