Students honored the gurus by reciting poems and stories | विद्यार्थियों ने कविता व कहानियां सुनाकर गुरुजनों का किया सम्मान

झज्जर6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

शिक्षक दिवस के उपलक्ष्य में शनिवार को विभिन्न स्थानों पर अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित किए गए। स्कूल और कॉलेज के बच्चों ने अपने गुरुजनों को याद करते हुए उनके साथ न सिर्फ ऑनलाइन मीटिंग की बल्कि उनके द्वारा दिखाए गए रास्ते पर चलकर ही सफलता की सीढ़ी चढ़ने पर उनका आभार माना। बच्चों ने अपने गुरुजनों के सम्मान में कविता, कहानियां पेश की। विभिन्न संस्थाओं से जुड़े लोगों ने गुरुजनों काे आदर देते हुए जरूरतमंदों को राहत सामग्री बांटकर शिक्षक दिवस मनाया।

अमित और पिंकी कुलदीप स्मृति अवाॅर्ड से सम्मानित
एलए सीनियर सेकंडरी स्कूल प्रबंधन ने शिक्षकों को सम्मानित किया। साल्हावास एचडी स्कूल की प्राचार्या कमलेश ढिल्लन ने विचार रखे। स्कूल प्रबंधक केएम डागर ने बताया कि अध्यापकों ने म्यूजिक चेयर, बैलून पिरामिड, बैलून बैलेंस व फनी लूडो के गेम में भाग लिया। विजेता अध्यापकों को मुख्यातिथि ने सम्मानित किया। इस वर्ष का कुलदीप स्मृति अवाॅर्ड स्कूल डीपीई अमित लोहचब व पिंकी रानी को दिया गया।

विद्यार्थियों ने ग्रीटिंग कार्ड बनाकर शिक्षक की जीवन में महत्ता बताई

खातीवास और पाटोदा गांव के संस्कारम इंटरनेशनल स्कूल के विद्यार्थियों ने ग्रीटिंग कार्ड, पोस्टर, पेंटिंग एवं कविताओं के माध्यम से शिक्षक की जीवन में महत्ता को प्रदर्शित किया। इस मौके पर वर्चुअल मीटिंग में संस्कारम ग्रुप ऑफ स्कूल्स के चेयरमैन महिपाल ने कहा कि शिक्षक हमारे राष्ट्र की बहुमूल्य धरोहर एवं राष्ट्र निर्माता हैं। जिस तरह कोविड-19 के चलते से शिक्षकों ने ऑनलाइन क्लासेज से बेहतरीन शिक्षा प्रदान की है वह काफी प्रशंसनीय है। विद्यार्थियों ने भी अपने शिक्षकों के सम्मान में काव्य पाठ से शिक्षक को ईश्वरीय स्वरूप प्रदर्शित किया। नाना प्रकार के पोस्टर, पेंटिंग एवं एक्टिविटी से शिक्षकों को हैप्पी टीचर्स-डे विश किया।

0

Source link