उम्र कैद की सजा काट रहे कैदी के साथ जेल सुपरिटेंडेंट चला रहा था नशे का कारोबार, ऐसे खुली पोल | faridabad – News in Hindi

उम्र कैद की सजा काट रहे कैदी के साथ जेल सुपरिटेंडेंट चला रहा था नशे का कारोबार, ऐसे खुली पोल

जेल सुपरिटेंडेंट और उसका वार्डन गिरफ्तार हुआ है.

गुरुग्राम की भोंडसी जेल (Bhondsi Jail) में पुलिस ने नशे के गोरखधंधे के लिए जेल सुपरिटेंडेंट धर्मवीर चौटाला (Jail Superintendent Dharamvir Chautala) और उसके वार्डन को गिरफ्तार किया है.

हरियाणा. गुरुग्राम की मॉडर्न जेल भोंडसी (Bhondsi Jail) में जेल सुपरिटेंडेंट धर्मवीर चौटाला (Jail Superintendent Dharamvir Chautala) और उसके साथी की गिरफ्तारी के बाद कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं. जेल में नशीले पदार्थ, मोबाइल फोन और सिम का गोरखधंधा जेल में सजायाफ्ता कैदी की शह पर चल रहा था. पुलिस ने सजायाफ्ता कैदी को प्रोटेक्शन वारंट पर लेकर पूछताछ शुरू कर दी है. जबकि गुरुग्राम पुलिस (Gurugram Police) को उम्मीद है कि इस मामले में अभी और भी खुलासे होंगे.

जेल सुपरिटेंडेंट की मिलीभगत से हो रहा था धंधा
गुरुग्राम के भौंडसी जेल में नशीले पदार्थ और मोबाइल फोन और सिम मिलने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा था. जेल में सजा काट रहे कैदियों द्वारा जेल से खेले जा रहे खेल को खत्म करने के लिए पुलिस ने जाल बिछाया, जिसमें पुलिस ने जेल सुपरिटेंडेंट धर्मवीर चौटाला को भारी मात्रा में नशीले पदार्थ के साथ काबू किया है. पुलिस ने जेल सुपरिटेंडेंट के साथ एक वार्डन को भी पकड़ा है. तलाशी के दौरान पुलिस ने जेल सुपरिटेंडेंट चौटाला के घर से मोबाइल फोन और सिम भी बरामद किए हैं. पूछताछ के दौरान पुलिस को मालूम चला कि सुपरिटेंडेंट के साथ गिरफ्तार किए गए जेल वार्डन का सजायाफ्ता कैदी गुड्डू से संबंध है. गुड्डू ही जेल से फोन कर वार्डन को नशीले पदार्थ ,फोन व सिम मुहैया करवाता था. गुड्डू द्वारा मुहैया करवाए गये समान को जेल वार्डन जेल सुपरिटेंडेंट धर्मवीर चौटाला को दिया करता था, जिसे वह जेल में बंद कैदियों को दे देता था.

पुलिस ने शुरू की पूछताछइस खुलासे के बाद गुरुग्राम पुलिस ने गुड्डू को प्रोटेक्शन वारंट पर लेकर पूछताछ शुरू कर दी है. गुड्डू ने जेल सुपरिटेंडेंट को कितने पैसे का समान मुहैया करवाया था और इसकी पेमेंट कैसे की जानी थी. गौरतलब है कि यह कोई पहला मामला नहीं है जब जेल सुपरिटेंडेंट पर भरस्टाचार के आरोप लगे हों. इससे पहले भी इस तरह के आरोप धर्मवीर पर लगते रहे हैं, लेकिन वह अपने राजनीतिक रसूख के चलते बचता आ रहा था. इस बार गुरुग्राम पुलिस ने इसके नेक्सेस को तोड़ कर रख दिया है. पुलिस की मानें तो जेल में हो रहे खेल को अब किसी भी कीमत पर बर्दास्त नहीं किया जाएगा. जेल में नशीले पदार्थ, फोन व सिम किसी भी कीमत पर किसी भी कैदी तक नहीं पहुंचने दिया जाएगा.



Source link