Five accused in triple murder witness arrested from Titoli-Najafgarh | ट्रिपल मर्डर के गवाह की हत्या में पांच आरोपी टिटोली-नजफगढ़ से गिरफ्तार

भिवानी6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • चुनावी रंजिश को लेकर ही दिया था वारदात को अंजाम

बडेसरा में चुनावी रंजिश को लेकर 80 वर्षीय व्यक्ति की गोली मारकर हत्या करने के मामले में पुलिस ने टिटोली जिला रोहतक व नजफगढ़ दिल्ली से पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों से आरंभिक पूछताछ में सामने आया है कि ट्रिपल मर्डर मामले में गवाह सूबेसिंह की हत्या की घटना को आनंद उर्फ बबलू के पुत्र अमन ने चार साथियों के साथ मिलकर अंजाम दिया था। क्योंकि अमन के पिता के अलावा, उसकी मां व भाई समेत परिवार के 23 सदस्य जेल में बंद है।  आरोपियों को अदालत में पेश कर पूछताछ के लिए पुलिस रिमांड पर लिया गया है। सीआईए थाना इंचार्ज इंस्पेक्टर योगेश हुड्डा के नेतृत्व में गठित टीम ने सूबेसिंह के हत्या आरोपियों को 50 घंटे बाद गिरफ्तार कर लिया है। सफेद रंग की स्विफ्ट डिजायर गाड़ी में सवार होकर हत्यारोपियों ने बुधवार सुबह सात बजे सूबेसिंह की गाेली मारकर हत्या की थी। जब वह अपने घर के बारह चबूतरे पर बैठे हुए थे। सूचना मिलते ही पुलिस ने हत्यारोपियों की तलाश शुरू कर दी थी। पुलिस ने शुक्रवार सुबह नौ बजे हत्यारोपियों को गिरफ्तार किया। आरोपियों की पहचान बडेसरा निवासी अमन पुत्र आनंद उर्फ बबलू, उसके साथी खाड़ी मोहल्ला भिवानी निवासी सूरज, हरिपुर पालुवास निवासी विरेंद्र उर्फ बॉक्सर, दादरी गेट निवासी मनदीप व सुमित के रूप में हुई है। पुलिस ने मनदीप से एक पिस्तौल व दो कारतूस, सुमित से एक पिस्तौल व 6 कारतूस तथा विरेंद्र से एक पिस्तौल व दो कारतूस बरामद किए हैं।

विरेंद्र व सुमित ने दागी थीं सूबेसिंह पर तीन गोलियां

डीएसपी विरेंद्र सिंह ने बताया कि पुलिस के सामने आरोपियों ने आरंभिक पूछताछ में कबूल किया है कि अमन के कहने पर ही खाड़ी मोहल्ला भिवानी निवासी सुरज, गांव हरिपुर पालुवास निवासी विरेंद्र उर्फ बॉक्सर, दादरी गेट निवासी मनदीप व सुमित ने सूबेसिंह की हत्या को अंजाम दिया था। पांचों कार में सवार होकर सूबेसिंह के मकान के बाहर पहुंचे। अमन गाड़ी में ही बैठा रहा जबकि शेष चारों उसके साथ गाड़ी से नीचे उतरे। सूबेसिंह पर गोली विरेंद्र व सुमित ने चलाई। एक रिवाल्वर से दो व एक से एक गोली चली थी। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी गाड़ी में बैठक महम चले गए थे। गाड़ी खुद अमन चला रहा था।

दो पर दर्ज हैं छह मामले

हरिपुर पालुवास निवासी वीरेंद्र उर्फ बॉक्सर के खिलाफ जिला जेल में लड़ाई झगड़ा करने का एक मामला दर्ज जबकि लड़ाई झगड़े के दो मामले थाना बवानीखेड़ा में दर्ज है। आरोपी के खिलाफ सब्जी मंडी भिवानी में व्यापारी से पैसे छीनने का भी मामला भी दर्ज है। महम में गाड़ी छीनने का केस भी दर्ज है। खाड़ी मोहल्ला निवासी सूरज के खिलाफ जिला रोहतक, दिल्ली, हिसार व भिवानी में गाड़ी छीनने, चोरी, आर्म्स एक्ट आदि के आधा दर्जन मामले दर्ज हैं। 

जेल में हुई थी मुलाकात 

पुलिस जांच में यह भी सामने आया है कि अमन जेल में बंद अपने पिता व परिवार के अन्य सदस्यों से मिलने अकसर जाता रहता था। इसी दौरान उसकी मुलाकात जेल में बंद विरेंद्र से हुई थी और उससे गांव में बनी परिवार की चुनावी रंजिश के बारे में बताया था। विरेंद्र लगभग दाे महीने पहले ही जेल से जमानत पर बाहर आया था। सूरज से भी उनकी जेल में मुलाकात हुई थी। अमन ने विरेंद्र व सूरज से मुलाकात की और फिर दादरी गेट निवासी मनदीप व सुमित को मिलाया। इसके बाद ट्रिपल मर्डर के गवाह सूबे सिंह की हत्या करने की योजना बनाई। योजना के तहत आरोपियों ने सूबेसिंह की हत्या को अंजाम दिया और मौके से भागने में भी कामयाब हो गए। पुलिस से बचने के लिए आरोपियों ने महम में स्विफ्ट डिजायर गाड़ी छोड़ दी और वहां से पिस्तौल के बल एक राहगीर से गाड़ी छीन ली थी। पुलिस उन तक न पहुंचे इसके लिए छीनी गई गाड़ी को भी मोखरा के पास छोड़ दिया था। यहां से अमन टिटोली चला गया था और शेष चारों आरोपी नजफगढ़ दिल्ली भाग गए थे लेकिन पुलिस ने पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

सूरज पर भिवानी, रोहतक, हिसार व दिल्ली में भी दर्ज हैं केस

चुनावी रंजिश व ट्रिपल मर्डर मामले में गवाह होने के कारण ही हत्यारोपियों ने सूबेसिंह की गोली मारकर हत्या की थी। पुलिस ने ट्रिपल मर्डर मामले के आरोपी आनंद उर्फ बबलू के पुत्र अमन को गांव टिटोली जिला रोहतक से गिरफ्तार किया है। जबकि उसके चार साथियों को नजफगढ़ दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है। मामले में शामिल खाड़ी मोहल्ला भिवानी निवासी सूरज के खिलाफ रोहतक, दिल्ली, हिसार व भिवानी में गाड़ी छीनने, चोरी, आर्म्स एक्ट समेत आधा दर्जन आपराधिक मामले पहले से दर्ज है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही हैं।” -विरेंद्र सिंह, डीएसपी हेडक्वार्टर।

0

Source link