India

bird flu scares in kashmir, ban imposed on import of poultry products in jammu-kashmir | Jammu-Kashmir: सूबे में Bird Flu की दहशत, जनता से सतर्क रहने की अपील

श्रीनगर: देश के बाकी सूबों की तरह जम्मू-कश्मीर (Jammu-kashmir) में भी बर्ड फ्लू (Bird flu) की दहशत है. पड़ोसी राज्यों हिमाचल प्रदेश और पंजाब में बर्ड फ्लू की पुष्टि के बाद जम्मू और कश्मीर प्रशासन ने हाई अलर्ट घोषित कर दिया है. सर्दियों में वादी में आने वाले प्रवासी पक्षियों और पोल्ट्री फॉर्म से सैंपलिंग हो रही हैं. वर्तमान में कश्मीर में लगभग 6.5 लाख प्रवासी पक्षी मौजूद हैं. वहीं शासन ने जम्मू कश्मीर में पोल्ट्री उत्पाद लाने पर भी प्रतिबंध लगा दिया है.

एक साथ कई मोर्चे पर काम

बर्ड फ्लू के खतरे को देखते हुए पशुपालन और वन्य जीव विभाग की संयुक्त टीमें लगातार वेटलैंड्स का दौरा कर रही हैं. अभी तक पक्षियों के एवियन इन्फ्लुएंजा से संक्रमित होने के बारे में पुख्ता जानकारी नहीं मिली है. परीक्षण के लिए पक्षियों के नमूने लेकर बाहर की लैब में भेजे जाने की तैयारी है. 

सेंट्रल एशिया से आए प्रवासी पक्षी

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने अलर्ट जारी करने के साथ एहतियात के तौर पर कुछ दिशानिर्देश जारी किए हैं. वन्यजीव विभाग के रीजनल वाइल्ड लाइफ वार्डन राशिद नकाश के मुताबिक, ‘कश्मीर में लगभग सभी नोटिफाइड 9 वेटलैंड का दौरा हो चुका है, वहां लगभग 5 लाख प्रवासी मौजूद हैं और इसके अलावा करीब 1.5 लाख प्रवासी पक्षी कश्मीर के गैर-नोटिफाइड जलस्रोतों में मौजूद हैं. 

ये भी पढ़ें- भारत का कायल हुआ ब्रिटेन, संसद में ‘अद्भुत देश’ बताते हुए जमकर की तारीफ

मनुष्यों के संपर्क में आने का खतरा

खतरा यह है कि ये पक्षी मध्य एशिया से वाया हिमाचल और पंजाब होकर कश्मीर (Kashmir) आते हैं. भारी बर्फबारी और ठंड के बीच सभी झीलें और पानी के स्त्रोत जमे हुए हैं. इसबीच वो भोजन के लिए रिहाइशी इलाकों तक पहुंच रहे हैं, ऐसे में उनके मनुष्यों के संपर्क में आने का खतरा बढ़ गया है. 

170 से अधिक प्रवासी प्रजातियां

विदेशों से आए पक्षियों की चर्चा करें तो यहां गीस, गैडवाल, टील्स, पर्पल स्वैंप हेन, एग्रेट्स, और ग्रीन शैंक्स प्रजातियों जैसी करीब 170 से ज्यादा प्रजातियों के पक्षी कश्मीर के वेटलैंड आते हैं. अभी तक यहां एक भी पक्षी के पॉजिटिव होने की खबर नहीं है. हालांकि डर इस बात का है क्योंकि उड़ी और कुलगाम में संभावित फ्लू वाले पक्षियों के संदिग्ध दृश्य देखे गए हैं.

केंद्र के दिशानिर्देशों के अनुसार जनता को सतर्क किया है. इस दौरान लोगों से पक्षियों के व्यवहार में बदलाव दिखने पर पशुपालन विभाग को सूचित करने की अपील की गई है.

LIVE TV
 



Source link

Leave a Reply