India

Maharashtra: Man drives into dam in Ahemednagar while following Google Maps | Maharashtra: Google Map के बताए रास्ते पर गए 3 लोग, डैम में डूबी कार; 1 की मौत

मुंबई: अक्सर आप भी अनजान जगहों पर जाने के लिए गूगल मैप (Google Map) का सहारा लेते होंगे, लेकिन कई बार इसकी वजह से मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. महाराष्ट्र (Maharashtra) के अहमदनगर के एक शख्स को गूगल मैप की मदद लेना भारी पड़ गया और उसे अपनी जान गंवानी पड़ी. 

ट्रैक पर गए थे तीन दोस्त

पुलिस ने बताया, पुणे में रहने वाले तीन व्यवसायी फॉर्च्यूनर कार से गुरु शेखर (42), समीर राजुरकर (44) और सतीश घुले (34) महाराष्ट्र (Maharashtra) की सबसे ऊंची चोटी कलसुईबाई पर ट्रैकिंग करने के लिए निकले थे, लेकिन उन्हें रास्ते की सही जानकारी नहीं थी. इसके बाद रविवार रात करीब 1:45 बजे उन्होंने गूगल मैप (Google Map) की मदद ली.

लाइव टीवी

ये भी पढ़ें- 28 दिनों के अंतराल पर लगेंगी कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज, इतने दिनों बाद दिखाई देगा असर

गूगल मैप ने गलत रास्ते पर भेजा

अकोले पुलिस स्टेशन के सीनियर इंस्पेक्टर अभय परमार ने बताया, ‘ट्रैकिंग के लिए कलसुईबाई जाने के दौरान गूगल मैप ने उन्हें सबसे नजदीकी सड़क दिखाई, जो उन्हें सीधे डैम की तरफ ले गई और उनकी कार पानी में डूब गई.’ पुलिस ने बताया कि यह सड़क बारिश के मौसम में ही बंद कर दी गई थी, क्योंकि पिम्पलगांव खंड डैम के पानी में डूब गया था.

चार महीने बंद रहती है सड़क

पुलिस अधीक्षक राहुल मधने ने बताया कि हादसे की जगह पर एक पुल बना हुआ है, जो सिर्फ आठ महीने चालू रहता है. बारिश के मौसम के बाद चार महीने के लिए वहां बनाए गए बांध को खोल दिया जाता है. बांध से पानी छोड़ने के  कारण पुल पानी के अंदर डूब जाता है और इसका इस्तेमाल नहीं किया जाता है.

गूगल मैप पर भरोसा करना पड़ा भारी

पुलिस ने आगे बताया, ‘स्थानीय लोगों को सड़क बंद होने की जानकारी थी, लेकिन कार चलाने वाले सतीश घुले ने गूगल मैप पर भरोसा करते हुए आगे बढ़ता गया और अंधेरे के कारण कार सीधे पानी में चली गई.’

खिड़की तोड़कर 2 लोगों ने बचाई जान

पुलिस ने बताया कि हादसे के दौरान शेखर और राजुरकर गाड़ी की खिड़की तोड़कर बाहर निकल गए और तैरकर अपनी जान बचा ली, लेकिन सतीश घुले को तैरना नहीं आता था और उसकी जान चली गई



Source link

Leave a Reply