India

Mamta gets Sharad Pawar in the fight against BJP, will rally on behalf of TMC | BJP के खिलाफ लड़ाई में ममता को मिला शरद पवार का साथ, TMC की तरफ से करेंगे रैली!

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा (BJP) और तृणमूल कांग्रेस (TMC) के बीच घमासान बढ़ता ही जा रहा है. ऐसे में बीजेपी के खिलाफ लड़ाई में राकांपा अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) जैसे कई अन्य विपक्षी नेता मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) के साथ हो गए हैं.  

बंगाल में TMC का प्रचार करेंगे शरद पवार!

तृणमूल कांग्रेस सूत्रों ने सोमवार को कहा कि पार्टी भाजपा विरोधी एक मोर्चा बनाने के अपने प्रयास के तहत कोलकाता में विपक्षी नेताओं की एक बड़ी रैली आयोजित करने पर विचार कर रही है. इस बारे में जानकारी रखने वाले एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘शरद पवार और ममता बनर्जी जब कांग्रेस में थे तभी से उनके बीच बहुत सौहार्दपूर्ण संबंध हैं. टेलीफोन पर एक बातचीत के दौरान, शरद जी ने उन्हें अपना समर्थन जताया. उन्होंने बंगाल आने और तृणमूल कांग्रेस के पक्ष में प्रचार करने की इच्छा भी व्यक्त की है.’

ये भी पढ़ें:- बेंगलुरु हिंसा मामले में NIA की बड़ी कार्रवाई, PFI-SDPI के 17 कार्यकर्ता गिरफ्तार

राकांपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता नवाब मलिक ने भी पहले दिन में मुंबई में आरोप लगाया कि भाजपा पश्चिम बंगाल सरकार को अस्थिर करने के लिए केंद्र का उपयोग कर रही है. उन्होंने कहा कि पवार और बनर्जी ने इस मुद्दे पर चर्चा की है. कैप्टन अमरिंदर सिंह, अरविंद केजरीवाल, भूपेश बघेल और अशोक गहलोत, क्रमशः पंजाब, दिल्ली, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के मुख्यमंत्रियों ने हाल ही में आरोप लगाया कि प्रतिनियुक्ति पर तीन IPS अधिकारियों को स्थानांतरित करने वाला केंद्र का आदेश पश्चिम बंगाल के प्रशासन के कामकाज में हस्तक्षेप है. पंजाब, छत्तीसगढ़ और राजस्थान जहां कांग्रेस द्वारा शासित हैं, वहीं दिल्ली में आम आदमी पार्टी का शासन है. 

नड्डा की सुरक्षा के जिम्मेदार थे तीनों IPS

द्रमुक अध्यक्ष एम के स्टालिन ने भी पश्चिम बंगाल के तीन आईपीएस अधिकारियों को भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार द्वारा एकतरफा स्थानांतरण को निरंकुश और संघीय व्यवस्था के खिलाफ बताया है. बताते चलें कि तीन आईपीएस अधिकारी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा (JP Nadda) की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार थे. जिनके काफिले पर कथित तौर पर तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने पश्चिम बंगाल की उनकी हालिया यात्रा के दौरान हमला किया था. राज्य में अगले साल अप्रैल-मई में विधान सभा चुनाव होने हैं.

ये भी पढ़ें:- 13 साल की उम्र में TMC के इस सांसद के साथ हुई थी छेड़छाड़, संसद में सुनाई आपबीती

भाजपा विरोधी रैली आयोजित करने जा रही TMC

बनर्जी, केंद्र के इस कदम का विरोध कर रही हैं और उन्होंने रविवार इस मुद्दे पर राज्य के साथ एकजुटता के लिए इन विपक्षी नेताओं का आभार व्यक्त किया. तृणमूल कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि पार्टी विधान सभा चुनावों से पहले भाजपा विरोधी एक रैली आयोजित करने की योजना बना रही है. नेता ने कहा, ‘अभी कुछ भी तय नहीं किया गया है. हम सोच रहे हैं कि क्या इस तरह की रैली आयोजित की जा सकती है. देखते हैं क्या होता है. हमें कोविड-19 की स्थिति को भी ध्यान में रखना होगा.’

LIVE TV



Source link

Leave a Reply