India

After virus surges in capital Amit Shah suggest 12 point plan during a review meeting | दिल्ली: कोरोना पर काबू के लिए एक्शन में केंद्र, ये है अमित शाह का 12 सूत्रीय प्लान

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार हरकत में आ गई है. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कोरोना पर लगाम लगाने के लिए 12 सूत्रीय प्लान बताया है. दरअसल, रविवार को अमित शाह ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपराज्यपाल अनिल बैजल समेत कई अधिकारियों के साथ बैठक की और कोरोना के बढ़ते मामलों पर चर्चा की.

कोरोना के खिलाफ जंग में अमित शाह का प्लान
बैठक में अमित शाह (Amit Shah) ने केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों के अतिरिक्त डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ को एयरलिफ्ट करने और केंद्र की तरफ से 300 आईसीयू बेड व अन्य उपकरण मुहैया कराने की बात कही. इसके अलावा दिल्ली में RT-PCR टेस्ट में दोगुना करने और पहले शुरू किए गए सारे कंटेनमेंट उपायों की समीक्षा करने की बात की.

LIVE टीवी

दिल्ली में कोरोना वायरस की स्थिति
पिछले सप्ताह में राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस (Coronavirus in Delhi) के मामलों में काफी तेजी आई और रोजाना औसत 8500 नए मामले दर्ज किए, जबकि रोज औसत 90 लोगों ने अपनी जान गंवाई. पिछले सप्ताह दिल्ली में 51 हजार से ज्यादा नए मामले दर्ज किए गए और अब कोविड-19 के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 485405 हो गई है. दिल्ली सरकार द्वारा सोमवार दोपहर को जारी बुलेटिन के अनुसार रिकॉर्ड 15.33 प्रतिशत पॉजिटिविटी रेट के साथ 3235 मामले दर्ज किए गए, जबकि 95 लोगों की मौत हुई.

कोरोना के खिलाफ अमित शाह का 12 सूत्रीय प्लान
1. सर्वप्रथम दिल्‍ली में RT-PCR टेस्ट में दो-गुना वृद्धि की जाएगी.
2. दिल्‍ली में लैबों की क्षमता का अधिक से अधिक उपयोग करके, जहां कोविड होने का खतरा ज्यादा है, वहां स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय और ICMR की मोबाइल टेस्टिंग वैनों को तैनात किया जाएगा.
3. दिल्ली में अस्पतालों की क्षमता और अन्‍य मेडिकल इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर की उपलब्‍धता में वृद्धि की जानी चाहिए. इसी दिशा में मई में बनाए गए धौला कुआं स्थित DRDO के कोविड अस्पताल में 250 से 300 ICU बेड और शामिल किए जाएंगे, जिससे गंभीर कोविड रोगियों का वहां इलाज किया जा सके.
4. ऑक्‍सीजन की सुविधा वाले बेडों की उपलब्धता बढ़ाने के उद्देश्‍य से छतरपुर के 10 हजार बेड वाले कोविड सेंटर को और सशक्त किया जाएगा.
5. MCD के कुछ चिन्हित अस्‍पतालों को हल्‍के-फुल्‍के लक्षण वाले कोविड-19 रोगियों के उपचार के लिए डेडिकेटेड अस्‍पतालों के रूप में परिवर्तित किया जाएगा.
6. कोविड-19 संबंधी मेडिकल इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर की उपलब्‍धता और मरीजों की भर्ती की स्थिति के इंस्पेक्शन व पहले लिए निर्णय के अनुसार, बेडों की उपलब्धता की सही स्थिति को स्‍पष्‍ट रूप से दर्शाने के लिए, डेडिकेटेड बहु-विभागीय टीमें, दिल्‍ली के सभी प्राइवेट अस्‍पतालों में जाएंगी.
7. पहले शुरू किए गए सारे कंटेनमेंट उपायों की समीक्षा हो, जैसे कंटेनमेंट जोनों की स्‍थापना, कंटेक्‍ट ट्रेसिंग तथा क्वारंटीन और स्‍क्रीनिंग. विशेषकर वह लोग जिन्हें कोविड होने का खतरा अधिक है उनकी लगातार समीक्षा की जानी चाहिए, ताकि रोकथाम उपायों को लागू करने में कोई कमी ना रह जाए.
8. केंद्रीय सशक्त पुलिस बलों ने कोरोना से लड़ने में देश और दिल्ली की जनता का बहुत सहयोग किया है. मोदी सरकार ने दिल्ली में स्वास्थ्यकर्मियों की कमी को देखते हुए CAPF से अतिरिक्‍त डॉक्टर और पैरा मेडिकल स्टाफ देने का निर्णय किया है, उन्हें शीघ्र ही एयरलिफ्ट करके दिल्ली लाया जाएगा.
9. बैठक में यह भी निर्देश दिए कि कोविड-19 के होम आइसोलेशन में रह रहे रोगियों की ट्रैकिंग रखने और तत्‍काल मेडिकल सुविधा की आवश्‍यकता पड़ने पर उनको तुरंत कोविड अस्‍पतालों में शिफ्ट करने की जरूरत पर विशेष रूप से बल दिया जाए, जिससे अधिक से अधिक लोगों के जीवन को बचाया जा सके.
10. गंभीर कोरोना मामलों में प्‍लाज्‍मा डोनेशन और प्रभावित व्यक्तियों को प्‍लाज्‍मा प्रदान किए जाने के लिए प्रोटोकॉल तैयार करने के निर्देश दिए. डॉ. वीके पॉल, निदेशक एम्‍स और महानिदेशक ICMR के नेतृत्व में एक उच्च स्तरीय समिति इसपर जल्द ही रिपोर्ट देगी.
11. दिल्ली में अधिक से अधिक लोगों की जान बचने के लिए केंद्र सरकार दिल्ली को ऑक्सीजन सिलिंडर, High Flow Nasal Cannula और अन्य सभी जरुरी स्वास्थ्य उपकरण उपलब्ध करवाएगी.
12. सुरक्षा ही कोरोना का एक मात्र उपाय है, इसलिए लोगों को COVID-19 व्यवहार के बारे में बताने तथा लंबे समय में मेडिकल और स्‍वास्‍थ्‍य मानदंडों पर इससे पड़ने वाले नकारात्मक प्रभाव के बारे में जानकारी देने के लिए दिल्ली में ठोस संवाद कार्यनीति होनी चाहिए. इसके लिए भी निर्देश दिए.



Source link

Leave a Reply