India

Kejriwal government bans Chhath Puja celebrations at public places in Delhi over coronavirus | दिल्ली: छठ पर कोरोना की मार, सार्वजनिक जगहों पर पूजा को लेकर सरकार का बड़ा फैसला

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस (Coronavirus) के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली सरकार (Delhi Govt) ने बिहार के महापर्व छठ (Chhath Puja) को लेकर बड़ा फैसला किया है. केजरीवाल सरकार ने एक पत्र जारी कर कहा है कि इस बार दिल्ली में सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा मनाने की छूट नहीं होगी.

घरों में या निजी स्थल पर पूजा करने की छूट
दिल्ली सरकार (Delhi Govt) ने सभी डीएम और पुलिस के सभी डीडीसी को पत्र लिखकर कहा है कि यह सुनिश्‍चित कराएं कि पब्‍लिक प्‍लेस पर छठ पूजा नहीं हो. हालांकि सरकार ने घरों या निजी स्थलों पर पूजा करने की छूट दी है. बता दें कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण सरकार ने लोगों के जमावड़े पर रोक लगाने के लिए यह कदम उठाया है.

इस साल कब है छठ महापर्व
चार दिनों तक चलने वाला छठ महापर्व (Chhath Mahaparv) इस साल 18 से 21 नवंबर के बीच मनाया जाएगा. 18 नवंबर को नहाय खाय के साथ छठ पूजा की शुरुआत होगी. इसके बाद 19 नवंबर को खरना है. 20 नवंबर को ढलते सूर्य को अर्घ्य और फिर 21 नवंबर को उगते सूर्य को अर्घ्य देने के बाद महापर्व का समापन होगा.

दिल्ली में कोरोना की गंभीर स्थिति
बता दें कि पिछले दो सप्ताह से दिल्ली में कोरोना (Coronavirus in Delhi) के नए मामलों में तेजी आई है और बुधवार (11 नवंबर) को 24 घंटे में 8593 नए मामले सामने आए थे. दिल्ली में संक्रमितों की कुल संख्या 4,59,975 हो चुकी है और 7228 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. हालांकि दिल्ली में अब तक कुल 4,10,118 लोग ठीक भी हो चुके हैं. इसके बावजूद सक्रिय मरीजों की संख्या 42,629 हो गई है, जोकि अब तक की सबसे बड़ी संख्या है.

देशभर में 86.83 लाख कोरोना के कुल केस
केंद्रीय स्वास्थ्य द्वारा गुरुवार को जारी आंकड़ों के अनुसार देशभर में 24 घंटे में 47905 नए मामले सामने आए है, जबकि इस दौरान 550 लोगों ने अपनी जान गंवाई. इसके बाद कोरोना वायरस के कुल संक्रमितों की संख्या 8683916 हो गई, जिसमें से 128121 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं और 8066501 लोग ठीक हो चुके हैं. देशभर में कोविड-19 के 489294 एक्टिव केस मौजूद हैं. भारत में कोरोना वायरस का रिकवरी रेट 92.89 प्रतिशत हो गया है, जबकि महामारी से मरने वालों की दर 1.48 प्रतिशत है.

LIVE टीवी



Source link

Leave a Reply