India

PM Narendra Modi indirectly cautions West Bengal on killing of BJP workers, says-maut ke khel se mat nahi mil sakta | बंगाल में राजनीतिक हत्याओं पर पीएम मोदी ने चेताया, कहा- मौत के खेल से मत नहीं मिलते

नई दिल्ली: बिहार विधान सभा चुनाव में जीत के बाद भारतीय जनता पार्टी (BJP) के हौसले बुलंद हैं और पार्टी पहले से ही मिशन बंगाल में जुट गई है. बताया जा रहा है कि बीजेपी बंगाल में अपनी रणनीति को अंतिम रुप देने में जुटी है और पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने बुधवार को कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए बंगाल को अपना संदेश सुना दिया.

बिहार के विजय उत्सव में संदेश
बिहार में एनडीए (NDA) की जीत पर दिल्ली में स्थित बीजेपी मुख्यालय पर जश्न मनाया. इस दौरान पीएम मोदी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा, ‘देश के कुछ हिस्सों में उनको लगता है कि बीजेपी के कार्यकर्ताओं को मौत के घाट उतार कर वे अपने मनसूबे पूरे कर लेंगे.’

बंगाल का नाम लिए बिना पीएम ने चेताया
पीएम मोदी (PM Modi) ने आगे कहा, ‘जो लोग लोकतांत्रिक तरीके से हमें चुनौती देने में असमर्थ हैं, उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं को खत्म करने के लिए हिंसक तरीके अपनाए हैं. अगर उन्हें लगता है कि वे अपने सपनों को पूरा करने में सक्षम होंगे, तो मैं कहना चाहूंगा कि लोग उन्हें सबक सिखाएंगे. चुनाव आते हैं, जाते हैं. मौत के खेल से मत नहीं मिल सकता.’

बीजेपी की खास नजर बंगाल पर
पश्चिम बंगाल, केरल, असम और पुडुचेरी में मई 2021 में चुनाव हैं, लेकिन बीजेपी की नजर खास तौर पर बंगाल पर टिकी है और माना जा रहा है कि इस बार बिहार से सबक लेते हुए बंगाल के लिए बेरोजगारी, प्रवासी मजदूरों की समस्या पर खास ध्यान दिया जा सकता है. केंद्र सरकार की तरफ से बंगाल के लिए कुछ बड़े ऐलान भी संभव हैं और इसीलिए विपक्ष अभी से सतर्क हो चुका है.

ये भी पढ़ें- नीतीश कुमार ही होंगे बिहार के CM, पीएम मोदी ने दिया संदेश

बंगाल में भी साइलेंट वोटर पलट सकते हैं बाजी
बिहार चुनाव के नतीजों ने महागठबंधन को हैरान कर दिया है और माना जा रहा है एनडीए की जीत के पीछे वो साइलेंट वोटर हैं, जो आम तौर पर मुखर होकर अपनी बात नहीं कहते. आमतौर पर महिलाओं और बुजुर्ग वोटर्स को साइलेंट वोटर माना जाता है, जो किसी भी चुनाव में पासा पलट देने का माद्दा रखते हैं और माना जा रहा है कि बिहार की जीत के बाद अब पश्चिम बंगाल में भी बीजेपी इस साइलेंट वोटर को साधने की कोशिश करेगी. 2019 को लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने बंगाल में 18 सीटें जीती थीं और अब 2021 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को ममता बनर्जी के लिए बड़ी चुनौती के तौर पर देखा जा रहा है.

LIVE टीवी



Source link

Leave a Reply