india coronavirus total active cases recovery rate | कोरोना के 97,894 नए मामले, पहली बार एक्टिव मरीजों की संख्या इतने लाख के पार

नई दिल्ली: भारत में एक दिन में कोविड-19 (COVID-19) के सर्वाधिक 97,894 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की कुल संख्या 51 लाख से अधिक हो गई है. वहीं, गुरुवार तक 40 लाख से अधिक लोग संक्रमण मुक्त भी हो गए.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) की ओर से सुबह आठ बजे जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार देश में कोविड-19 के अभी तक 51,18,253 मामले सामने आ चुके हैं. वहीं, पिछले 24 घंटे में 1,132 लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 83,198 हो गई है.

आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी तक कुल 40,25,079 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं. वहीं, देश में पहली बार उपचाराधीन मरीजों की संख्या 10 लाख के पार चली गई. देश में कोविड-19 से मृत्यु दर 1.63 प्रतिशत है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी 10,09,976 मरीजों का कोरोना वायरस का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 19.73 प्रतिशत है.

6,05,65,728 नमूनों की जांच
भारत में कोविड-19 के मामले 21 दिन में 10 से 20 लाख के पार पहुंचे थे. इसके बाद 16 दिन में में 20 से 30 लाख और 13 दिन में 30 से 40 लाख के आंकड़े को पार किया था. वहीं, 40 लाख से 50 लाख की संख्या को पार करने में केवल 11 दिन लगे.

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार देश में 16 सितम्बर तक कोविड-19 के कुल 6,05,65,728 नमूनों की जांच की गई, जिसमें से 11,36,613 नमूनों की जांच बुधवार को की गई.

आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में जिन 1,132 लोगों की जान गई उनमें से सबसे अधिक 474 लोग महाराष्ट्र के थे. इसके अलावा उत्तर प्रदेश के 86, पंजाब के 78, आंध्र प्रदेश के 64, पश्चिम बंगाल के 61, तमिलनाडु के 57, कनार्टक के 55 और दिल्ली के 33 लोगों की मौत हुई.

आंकड़ों के अनुसार, अभी तक कुल 83,198 लोगों की मौत हुई है, इनमें सर्वाधिक 30,883 लोग महाराष्ट्र के हैं. वहीं, तमिलनाडु के 8,559, कर्नाटक के 7,536, आंध्र प्रदेश के 5,105, दिल्ली के 4,839, उत्तर प्रदेश के 4,690, पश्चिम बंगाल के 4,123, गुजरात के 3,256, पंजाब के 2,592 और मध्य प्रदेश के 1,844 लोग शामिल हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि संक्रमण की वजह से मरने वाले 70 प्रतिशत से अधिक लोग दूसरी बीमारियों से भी ग्रसित थे.

मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर कहा, ‘हमारे आंकड़ों का मिलान आईसीएमआर से किया जा रहा है.’

(इनपुट: भाषा )

ये भी देखें-



Source link