Apart from borders, India’s security will also be maintained in extended neighbourhood, says Gen Rawat | सीमा सुरक्षा के साथ ही पड़ोसियों के हितों की भी रक्षा करने में सक्षम है सेना: CDS बिपिन रावत

नई दिल्ली: भारत के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (Chief of Defence Staff) जनरल बिपिन रावत (General Bipin Rawat) ने कहा है कि भारतीय सेना और सुरक्षा बल न सिर्फ सीमाओं पर पूरी तरह से मुस्तैद हैं, बल्कि देश की जरूरतों के हिसाब से वो पड़ोसी देशों में भी स्थायित्व की दिशा में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं.

‘इमर्जिंग डिफेंस एक्सपोर्ट्स’ विषय पर गोष्ठी
जनरल बिपिन रावत ने कहा कि सुरक्षा जरूरतें लगातार बढ़ रही हैं. इसके बावजूद भारत न सिर्फ अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं, एलएसी, एलओसी पर बल्कि रणनीतिक तौर पर अहम पड़ोसियों की भी भारत रक्षा कर रहा है. जरनल बिपिन रावत ‘इमर्जिंग डिफेंस एक्सपोर्ट्स’  पर बोल रहे थे. उन्होंने कहा कि भारत न सिर्फ अमेरिका के साथ अपने संबंधों को आगे बढ़ा रहा है, तो रूस के साथ पारंपरिक रिश्तों में भी ताजगी ला रहा है. उन्होंने कहा कि रूस और अमेरिका दोनों के साथ मजबूत और परिपक्व संबंध रखते हैं.

देश की रक्षा में सक्षम है सेना: जनरल बिपिन रावत
सीडीएस रावत ने कहा कि भारतीय सुरक्षा बलों का ढांचा ऐसा है कि वो जरूरत के हिसाब से खुद में तेजी से बदलाव लाने में सक्षम है. और वो कमांड स्तर पर आपसी सहयोग बढ़ाकर देश की सुरक्षा कर रही हैं.

‘मेक इन इंडिया को प्रोत्साहित कर रही सरकार’
भारत के रक्षा क्षेत्र की जरूरतें लगातार बढ़ रही है. ऐसे में भारत सरकार और सुरक्षा बल दोनों ही मेक इन इंडिया को प्राथमिकता दे रहे हैं. हम इस बात के लिए पूरी तरह से समर्पित हैं, कि भारत की लड़ाई भारत अपने हथियारों से जीते.

एलएसी पर तनाव जारी
बता दें कि भारत-चीन के बीच लद्दाख में खींचतान जारी है. दोनों ही देशों के सेनाओं का जमावड़ा एलएसी पर है. पिछले दिनों चीनी सैनिकों ने घुसपैठ की कई बार कोशिशें की, लेकिन भारतीय सुरक्षा बलों ने हर बार उसे नाकाम कर दिया और एलएसी पर महत्वपूर्ण ठिकानों पर अपना स्थिति मजबूत कर ली है.

LIVE टीवी: 



Source link