Big revelations in Sushant Singh Rajput case, CBI can arrest Riya Chakraborty

नई दिल्लीः सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) मामले में सीबीआई धारा 306 यानी आत्महत्या के लिए मजबूर करने के एंगल से भी जांच कर रही है. इस मामले में सूत्रों के हवाले से बड़ी खबर सामने आई है. सूत्रों का कहना है कि सीबीआई को अपनी जांच में पता चला है कि अभिनेता की हालत रिया से मिलने के कुछ दिन बाद से ही खराब होनी शुरू हो गई थी. रिया चक्रवर्ती समेत उसका पूरा परिवार ड्रग्स लेता था. सुशांत के संपर्क में आने के बाद रिया ने सुशांत की डिप्रेशन की बीमारी का इलाज बड्ड (यानी गांजा) बताकर उसको नशे का आदि बना दिया था.

सूत्र बताते हैं कि सीबीआई को यह भी पता चला है कि रिया हमेशा अपने घर में शोविक के जरिए इतनी ड्रग्स रखती थी कि सुशांत को नशे की कोई परेशानी न हो, सुशांत ड्रग्स के आदि हो गए थे. लॉकडाउन (Lockdown) लगने के बाद घर में रहकर सुशांत ज्यादा ड्रग्स लेने लगे थे. सुशांत की बहनों को जब सुशांत के ड्रग्स लेने के बारे में जानकारी मिली तो उन्होंने उसे रिया से दूर रहने की सलाह दी.

ये भी पढ़ें- रिया-शोविक के ड्रग कनेक्शन को लेकर बड़ा खुलासा, सामने आई Whatsapp चैट

सुशांत रिया के बिना नहीं रह सकते थे. सुशांत की बहनों और रिया के बीच हुई तीखी बातचीत के बाद रिया ने सुशांत को एक चॉइस दी, ‘या तो तुम मेरे साथ रहो और शादी करो, या तुम अपने परिवार के पास चले जाओ’ इसके बाद सुशांत अपने परिवार के साथ ज्यादा बात नहीं करते थे. लेकिन उनकी बहनें लगातार सुशांत की हालत को लेकर परेशान रहती थीं. और उनसे बात करती थीं.

8 जून को दिशा सानियाल की मौत की खबर सुनकर सुशांत काफी टूट गए थे. सुशांत का रिया से झगड़ा हुआ तब वो घर घोड़कर चली गई थी. इस बीच अपने आप को सामान्य रखने के लिए वो ज्यादा मात्रा में ड्रग्स लेने लगे थे. सीबीआई की अब तक कि तफ्तीश में ये साफ हो गया है कि रिया चक्रवर्ती एक पत्नी की तरह सुशांत के साथ रही, उसकी उसी बेरुखी की वजह से सुशांत ने आत्महत्या की है. 

दरअसल, सुशांत अपनी बहनों और रिया के बीच के झगड़ों मे फंस गए थे जिसके बाद उन्होंने सब झगड़ों को खत्म करने के लिए खुद फांसी लगा ली. सीबीआई को रिया के दिल्ली के ICICI बैंक में स्थित बैंक एकाउंट में सुशांत के पैसों के ट्रांसफर के भी कोई सबूत नहीं मिले हैं. 

हालांकि CBI का कहना है कि सुशांत सिंह की मौत के संबंध में व्यवस्थित और पेशेवर तरीके से एजेंसी जांच कर रही है. CBI जांच से संबंधित मीडिया रिपोर्ट्स तथ्यों पर आधारित नहीं हैं क्योंकि CBI अपनी पॉलिसी के डिटेल्स साझा नहीं करती है.



Source link