business

भारतीय पेट्रोलियम कंपनियों ने बढ़ाई पेट्रोल और डीजल की कीमतें | ईंधन की कीमतें: एक रुपए प्रति लीटर एक्सपायर हुआ पेट्रोल, लगातार दूसरे दिन बढ़े मूल्य, जानिए आज की कारें

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देश में भारतीय तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल के दामों में इजाफा किया है। पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों ने आम आदमी की जेब पर असर डाला है। लगातार दूसरे दिन यानी आज ईंधन की कीमतों में इजाफा देखने को मिल रहा है। बीते पांच दिनों से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में किसी तरह की वृद्धि नहीं देखी गई थी। लेकिन चार दिनों में बढ़ी कीमतों से पेट्रोल 1 रुपये प्रति घंटा महंगा हो गया है। बीते दो दिन में 50 पैसे बढ़ाए गए हैं।

दिल्ली में पेट्रोल के भाव 84.70 रुपये का नया लेवल पर पहुंच गए हैं, ऐसे ही मूल्य बढ़ते रहे तो 1-2 दिन में दिल्ली में पेट्रोल के भाव 85 रुपये पहुंच जाएंगे। मुंबई में पेट्रोल बुधवार को ही 91 रुपये प्रति लीटर को पार कर रहा था, आज इसमें 25 पैसे का और इजाफा हो गया है।

इन शहरों में गैसोलीन-डीजल की कीमत

  • दिल्ली में पेट्रोल 84.70 रुपये और डीजल 74.88 रुपये प्रति लीटर है।
  • मुंबई में पेट्रोल 91.32 रुपये और डीजल 81.60 रुपये प्रति लीटर है।
  • कोलकाता में पेट्रोल 86.15 रुपये और डीजल 78.47 रुपये प्रति लीटर है।
  • चेन्नई में पेट्रोल 87.40 रुपये और डीजल 80.19 रुपये प्रति लीटर है।
  • बैंगलूरु में पेट्रोल 87.56 रुपये और डीजल 79.40 रुपये प्रति लीटर है।
  • नोएडा में पेट्रोल 84.45 रुपये और डीजल 75.32 रुपये प्रति लीटर है।
  • लखनऊ में पेट्रोल 84.36 रुपये और डीजल 75.24 रुपये प्रति लीटर है।
  • पटना में पेट्रोल 87.23 रुपये और डीजल 80.02 रुपये प्रति लीटर है।
  • गुरुग्राम में पेट्रोल 82.87 रुपये और डीजल 75.48 रुपये प्रति लीटर है।

ऐसा निश्चित होता है
विदेशी मुद्रा दरों के साथ आंतरिक बाजार में क्रूड की मशीनें क्या हैं, इस आधार पर रोज पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव होता है। इन्हीं मानकों के आधार पर मार्केटिंग ऑयल मार्केटिंग कंपनियों (OMC) पेट्रोल रेट और डीजल रेट रोज तय करती हैं। इंडियन ऑयल (इंडियन ऑयल), भारत पेट्रोलियम (भारत पेट्रोलियम) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम (हिंदुस्तान पेट्रोलियम) हर रोज सुबह 6 बजे पेट्रोल और डीजल की दरों में संशोधन कर जारी करती हैं। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में एक्साइज ड्यूटी, डीलर का कमीशन और अन्य चीजों को जोड़ने के बाद तेल का दाम दोगुना तक बढ़ जाता है।

इसके अलावा बात करें राज्यों के अलग-अलग मूल्यों की तो प्रत्येक राज्य पेट्रोल व डीजल पर अलग-अलग स्थानीय बिक्री कर या मूल्य वर्धित कर (वैट) लगाते हैं। इस कारण उपभोक्ताओं के लिए राज्यों के हिसाब से डीजल और पेट्रोल की बिक्री बदल जाती हैं।



Source link

Leave a Reply