business

एंटनी वेस्ट हैंडलिंग सेल आईपीओ पूरी तरह से सब्सक्राइब हो गया, रिटेल भाग 1 दिन में 2.5 गुना बुक किया गया एंटनी वेस्ट आईपीओ: देश के प्राइमरी मार्केट में इस साल जमकर पैसा बरस रहा है, अगर चूक हुई तो अभी भी मौका है

डिजिटल डेस्क, मुंबई। देश के प्राइमरी मार्केट में इस साल जमकर पैसा बरस रहा है। नई-नवेली लिस्टेड कंपनियां अच्छे रिटर्न दे रही हैं। हाल ही में आए बर्गर किंग के आईपीओ ने निवेशकों के पैसों को 3-4 दिनों में लगभग तीन गुना कर दिया। यदि आप इस साल आईपीओ मार्केट में कमाई करने से चूक गए हैं तो अभी भी आपके पास मौका है। सोमवार को एंटनी वेस्टइंडिंग सेल का आईपीओ खुला है। आईपीओ के लिए क्वालिटी बैंड 313-315 रुपये रखा गया है। यह आईपीओ 21 दिसंबर से 23 दिसंबर तक अधिकारियों के लिए खुला रहेगा। पहले ही दिन ये आईपीओ पूरा सब्सक्राइब हो गया।

एंटनी वेस्ट होल्डिंग सेल के आईपीओ में 50 प्रतिशत हिस्सा क्वालि इंस्टीट्यूट इंस्टीट्यूशनल बायर्स के लिए रिजर्व है। एचएनआई के लिए 15 प्रति हिस्सा रिजर्व है, जबकि रिटेलर्स के लिए 35 प्रति हिस्सा आरक्षित है। निवेश न्यूनतम 47 और फिर उसके मल्टीपल में शेयरों की बोली लगाई जा सकती है। एक व्यवस्थापक अधिकतम 13 वर्ष के लिए अपनी रूचि दिखा सकता है। इस तरह से इस आईपीओ में हिस्सा लेने के लिए कम से कम 14,711 रुपये लागू होंगे। यह आईपीओ 21 दिसंबर, 2020 को खुला है और 23 दिसंबर, 2020 को बंद होगा। शेयरों की अलॉटमेंट डेट 29 दिसंबर, 2020 है। रिफंड इनिसिएशन 30 दिंसबर को शुरू होगा। वहीं डीमैट में 31 दिसंबर को शेयर क्रेडिट होगा। आईपीओ की लिस्टिंग 1 जनवरी, 2021 को होगी। कंपनी ने आईपीओ के माध्यम से 300 करोड़ रुपये के प्रोत्साहन का लक्ष्य रखा है।

कंपनी इस आईपीओ से जुटाए पैसे का इस्तेमाल पिंपरी चिंचवाड़ के वेस्ट टू एनर्जी प्लांट के प्रोजेक्ट फाइनेंस में होगा। इसके अलावा कंपनी और सब्सिडियरी कंपनियों के ऋण को कम करने और सामान्य कॉर्पोरेट जरूरतों के लिए किया जाएगा। इस कंपनी के बारे में बात करें तो तो यह देश के म्युनिसिपल सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट इंडस्ट्री में लीडिंग कंपनियों में है। इसकी शुरुआत 2001 में हुई थी। कंपनी सॉलिड वेस्ट कलेक्शन, ट्रांसपोर्टेशन, प्रोसेसिंग और डिस्पोजल के बारे में है। कंपनी के पास रोजाना 6,500 टन शैलडब्लू को हैंडल करने की क्षमता है। कंपनी के पासवी मुंबई मुनिसिपल कॉरपोरेशन, थॉम्प म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन, मंगलुरू म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन, न्यू ओखला इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी और ग्रेटर नोएडा इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी सहित 25 से ज्यादा प्रोजेक्ट हैं। कंपनी के पास कुल 1147 व्हीकल हैं, जिनमें से 969 जीपीएस टेक्नोलॉजीज से लैस हैं।

वहीं कंपनी के फाइनेंशियल्स की बात करें तो 31 मार्च 2020 के अनुसार कंपनी का रेवेन्यू 450.51 करोड़ था जबकि टैक्स के बाद प्रॉफिट 62.08 करोड़ रहा जो 2019 में 283 करोड़ और 34 करोड़ था। कंपनी का शुद्ध प्रॉफिट मार्जिन वित्तीय वर्ष 2019-20 में 13.78% उछालला जबकि फाइनेंशियल ईयर 2019 और 2018 में यह 12.22% और 14.44% की रही थी। अनुभवी प्रमोटर और प्रबंधन, प्रोजेक्ट एग्ग्यूशन में बेहतर रिकॉर्ड और कंपनी का डायवर्सिफाइड पोर्टफोलियो इस सार्वजनिक प्रस्ताव को आकर्षक बनाता है। हालांकि कुछ एक्सपर्ट्स के मुताबिक विस्तार के बाद तेजी से मुनाफा कमाने में कुछ मुश्किल दिख सकती हैं। वहीं ग्रे मार्केट में एंटनी वेस्ट होल्डिंग सेल प्रीमियम पर ट्रेड कर रहे हैं।



Source link

Leave a Reply