business

21 नवंबर 2020 को पेट्रोल डीजल की कीमत | ईंधन की कीमत: आज फिर से बढ़े पेट्रोल-डीजल की कीमत, जानें आज के दाम

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल (कच्चे तेल) की कीमतों में दो सप्ताह से तेजी देखी जा रही है। इसका असर घरेलू बाजार में देखने को मिल रहा है। भारतीय बाजार में पूरे 48 दिनों तक ईंधन के दाम में स्थिर रहने के बाद शुक्रवार को बढ़ाए गए थे। आज (शनिवार, 21 नवंबर) एक बार फिर से भारतीय तेल विपणन कंपनियों (IOC, HPCL और BPCL) ने पेट्रोल-डीजल (पेट्रोल-डीजल) के भाव बढ़ा दिए हैं।

आज सरकारी तेल कंपनियों की ओर से डीजल के दामों में 20 से 23 पैसे तक की वृद्धि हुई है। वहीं पेट्रोल के दाम 15 से 17 पैसे तक बढ़े हैं। इससे पहले कल शुक्रवार को पेट्रोल 17 पैसे प्रति लीटर और डीजल 22 पैसे प्रति लीटर तक महंगा हुआ था। आइए जानते हैं देश के प्रमुख महानगरों में ईंधन की मशीनें …

खाद्य तेल की बढ़ती ब्रांडों सरकार के लिए चिंता का कारण, एक साल में 20 से 30 प्रतिशत की वृद्धि

पेट्रोल की कीमत
इंडियन ऑयल (इंडियन ऑयल) की वेबसाइट के अनुसार आज देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 81.38 रुपए प्रति लीटर है। वहीं आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल 88.09 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है। बात करें कल की तो यहां एक लीटर पेट्रोल के लिए आपको 82.95 रुपए चुकाना होगा। जबकि चैन्नई में पेट्रोल 84.46 रुपये प्रति लीटर में उपलब्ध होगा।

डीजल की कीमत
दिल्ली में डीजल की कीमत 70.88 रुपये प्रति लीटर हो गई है। वहीं मुंबई में डीजल 77.34 रुपए प्रति लीटर बेचा जा रहा है। कोलकाता में आपको एक लीटर डीजल 74.45 रुपए में उपलब्ध होगा। जबकि चैन्नई में एक लीटर डीजल के लिए आपको 76.37 रुपए चुकाना होगा।

हायर साइकिल को विदेशी कारोबार से 2022 तक 1000 करोड़ रुपये की कमाई का अनुमान है

ऐसा निश्चित होता है
विदेशी मुद्रा दरों के साथ आंतरिक बाजार में क्रूड की मशीनें क्या हैं, इस आधार पर रोज पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव होता है। इन्हीं मानकों के आधार पर मार्केटिंग ऑयल मार्केटिंग कंपनियों (OMC) पेट्रोल रेट और डीजल रेट रोज तय करती हैं। इंडियन ऑयल (इंडियन ऑयल), भारत पेट्रोलियम (भारत पेट्रोलियम) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम (हिंदुस्तान पेट्रोलियम) हर रोज सुबह 6 बजे पेट्रोल और डीजल की दरों में संशोधन कर जारी करती हैं। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में एक्साइज ड्यूटी, डीलर का कमीशन और अन्य चीजों को जोड़ने के बाद तेल का दाम दोगुना तक बढ़ जाता है।

इसके अलावा बात करें राज्यों के अलग-अलग मूल्यों की तो प्रत्येक राज्य पेट्रोल व डीजल पर अलग-अलग स्थानीय बिक्री कर या मूल्य वर्धित कर (वैट) लगाते हैं। इस कारण उपभोक्ताओं के लिए राज्यों के हिसाब से डीजल और पेट्रोल की बिक्री बदल जाती हैं।



Source link

Leave a Reply