business

धनतेरस पर लोग 20,000 करोड़ का सोना खरीदते हैं: IBJA | धनतेरस पर देशभर में लोगों ने 20,000 करोड़ रुपये का सोना खरीदा: आईबीजेए

मुंबई, 13 नवंबर (आईएएनएस)। धनतेरस के शुभ मुहूर्त पर इस साल सोने की बिक्री पिछले साल के मुकाबले 30 फीसदी से ज्यादा हुई है। आंकड़ों की बात करें तो लोगों ने लगभग 20,000 करोड़ रुपये का सोना इस साल धनतेरस पर खरीदा है। यह आंकड़ा इंडिया बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन (आईबीजेए) से मिला है।

आईबीजेए के आंकड़ों के अनुसार, देशभर में इस साल धनतेरस पर सोने की बिक्री करीब 40 टन हुई है, जिसका मूल्य लगभग 20,000 करोड़ रुपये आंका जा रहा है।

आईबीजेए के नेशनल सेक्रेटरी सुरेंद्र मेहता ने आईएएनएस को बताया कि पिछले साल जहां तकरीबन 12,000 करोड़ रुपये का सोना बिका था, वहीं इस साल 20,000 करोड़ रुपये का बिका है।

मेहता ने बताया, पिछले साल जहां करीब 30 टन सोना बिका था, वहीं इस साल करीब 40 टन सोना बिका है।

उन्होंने कहा कि सोने की बिक्री में पिछले साल के मुकाबले परिमाण में जहां 30 से 35 प्रति का इजाफा हुआ है, वहीं मूल्य में लगभग 70 प्रति की वृद्धि हुई है।

मेहता ने कहा कि इस बार धनतेरस पर सोने की बिक्री बढ़ने की सबसे बड़ी वजह बीते आठ महीने से आभूषणों की खरीद में लग रही है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान लोग सोन के आभूषण नहीं खरीद पाए क्योंकि बाजार बंद था और बाजार जब खुला भी तो शादी का सीजन मंदा रहा, लेकिन आगे शादी का सीजन भी है और धनतेरस सोने-चांदी की खरीदारी का शुभमुहर्त का लोगों ने इंतजार भी किया किया।

उन्होंने बताया कि इस बीच सोने का भाव 56,000 रुपये की ऊंचाई को छूने के बाद घट गया है और कोरोना के कारण आगे पीली तेजी की संभावना है, जिससे सोने की खरीदारी के प्रति लोगों का रुझान बना हुआ है। मेहता ने कहा कि ज्वेलर्स ने इस बार काफी लुभावने ऑफर भी दिए जिससे सोने और चांदी की खरीदारी के प्रति लोगों की इच्छा बढ़ी।

उन्होंने बताया कि इस साल धनतेरस देश में दो दिन मनाया गया, कुछ स्थानों पर लोगों ने गुरुवार को ही मनाया, जिससे लोगों को खरीद के लिए ज्यादा समय मिला।

आईबीजेए के अनुसार, शुक्रवार को देशभर में भारतीय बाजार में 24 कैरट शुद्धता के सोने का औसत भाव 50,849 रुपये प्रति 10 ग्राम (बिना जीएसटी) रहा, जोकि एक दिन पहले भाव 50,702 रुपये प्रति 10 ग्राम था। वहीं, 22 कैरट शुद्धता के सोने का औसत भाव 50,645 रुपये प्रति 10 ग्राम था जोकि एक दिन पहले 50,499 रुपये प्रति 10 ग्राम था।

वहीं, चांदी का औसत भाव 62,700 रुपये प्रति किलो था, जोकि पिछले सत्र में 62,797 रुपये प्रति किलो था।

देश के सबसे बड़े वायदा बाजार मल्टी कमोडिटी एक्सर ((एक्सएक्स) पर शाम 6.42 बजे सोने का दिसंबर एक्सपायरी अनुबंध में बीते सत्र से 325 रुपये यानी 0.64 प्रतिशत की तेजी के साथ 50,925 रुपये प्रति 10 ग्राम पर कारोबार चल रहा था। वहीं, एक्सएक्स पर चांदी के दिसंबर अनुबंध में बीते सत्र से 974 रुपये यानी 1.55 प्रतिशत की तेजी के साथ 63,713 रुपये प्रति किलो पर कारोबार चल रहा था।

जेम एंड ज्वेलरी ट्रेड काउंसिल ऑफ इंडिया (जीजेटीसीआई) के प्रेसीडेंट और अहमदाबाद के कारोबारी शांतिभाई पटेल ने भी बताया कि सोने और चांदी में जोरदार लिवाली रही, हालांकि उन्होंने कहा कि चांदी की खरीदारी ज्यादा रही, क्योंकि लोग धनतेरस पर चांदी के आभूषण से कहीं ज्यादा। बर्तन खरीद रहे हैं।

अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार कॉमेक्स पर सोने के दिसंबर अनुबंध में शुक्रवार को बीते सत्र से 12.95 डॉलर यानी 0.69 प्रतिशत की तेजी के साथ 1,886.25 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार चल रहा था।

कॉमेक्स पर चांदी के दिसंबर अनुबंध में बीते सत्र से 1.90 प्रति की तेजी के साथ 24.76 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार चल रहा है।]

केडिया एडवायजरी के डायरेक्टर अजय केडिया ने बताया कि सोने में लोगों ने अग में मेंएक्सएक्स पर 56,191 रुपये प्रति 10 ग्राम का भाव देखा है और इस समय 50,000-51,000 रुपये प्रति 10 ग्राम का भाव चल रहा है। वहीं, चांदी का भाव सात अगस्त को रिकॉर्ड 77,949 रुपये प्रति किलो तक उछला था, जबकि इस बार 63,000-64,000 रुपये प्रति किलो का भाव है। इसलिए गिरावट पर लिवाली बढ़ी है। उन्होंने कहा कि डॉलर में कमजोरी से अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सोने को आपूर्ति मिल रही है।

पीएमजे / एएनएम



Source link

Leave a Reply