business

विदेश में भी ड्राइविंग लाइसेंस रिन्यू करवा सकेंगे, मोटर एक्ट में होगा संशोधन | विदेश में रहने वाले भी ड्राइविंग लाइसेंस कराएंगे, मोटर एक्ट में संशोधन होगा

नई दिल्ली, 10 अक्टूबर (आईएएनएस)। अब विदेश में रहने के दौरान भी आप अपने ड्राइविंग लाइसेंस का आसानी से रिनूवल कराएँगे। इतना ही नहीं इंटर्न ड्राइविंग परमिट (आईडीपी) के लिए वीजा और मेडिकल सर्टिफिकेट की शर्तों को भी हटाने की तैयारी है। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने विदेश में रहने के दौरान ऐसे नागरिकों के आंतरिक ड्राइविंग परमिट (आईडीपी) की अवधि समाप्त होने पर रिनूवल (नवीन) की प्रक्रिया को और सरल बनाने की तैयारी की है। इसके लिए केंद्रीय मोटर वाहन अधिनियम, 1989 में संशोधन का प्रस्ताव है। संशोधन के लिए मंत्रालय ने लोगों से सुझाव भी मांगे हैं।

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने कहा है कि संज्ञान में आया है कि विदेश में रहने के दौरान आंतरिक ड्राइविंग परमिट की अवधि समाप्त हो जाने पर उसके नवीनीकरण (रिनूवाल) के लिए कोई तंत्र नहीं है। ऐसे नागरिकों को सुविधा प्रदान करने के लिए सीएमवीआर 1989 में संशोधन करने का प्रस्ताव है। नागरिक भारतीय दूतावास या मिशन एब्रोड पोर्टल्स के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं और इसके बाद आवेदन संबंधित आरटीओ के पास विचार के लिए भेज देंगे।

विशेष बात है कि विदेश में रहते हुए आईडीपी के लिए अनुरोध करने के समय एक चिकित्सा प्रमाण पत्र और एक प्रमाणिक वीज़ा की शर्तों को संरक्षित जाना शामिल है। क्योंकि जिन नागरिकों के पास प्रमाणिक ड्राइविंग लाइसेंस है, उन्हें अन्य चिकित्सा प्रमाण पत्र की आवश्यकता नहीं होनी चाहिए। इसके अतिरिक्त कुछ ऐसे देश हैं जहां वीजा ऑन एराइवल है और ऐसे मामलों में यात्रा से पूर्व भारत में आईडीपी के लिए आवेदन करना समय वीजा नहीं होता है। मंत्रालय ने इस संबंध में लोगों से सुझाव भी मांगे हैं। सुझावों को अधिसूचना जारी होने के 30 दिनों के भीतर संयुक्त सचिव (एमवीएलआईटी और टॉल) सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय, परिवहन भवन, पार्लियामेंट स्ट्रीट, नई दिल्ली पर भेजा जा सकता है।

एनएनएम / एएनएम



Source link

Leave a Reply