प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध, कीमतों में नरमी की उम्मीद | प्याज के निर्यात पर रोक, कीमतों में नरमी की उम्मीद

नई दिल्ली, 15 सितंबर (आईएएनएस)। प्याज के दाम में हो रही वृद्धि को देखते हुए केंद्र सरकार ने प्याज की सभी वेरायटी के एक्सप पर रोक लगा दी है। प्याज के निर्यात पर रोक लगने से आगे की कीमतों में नरमी की उम्मीद की जा सकती है। बताया जाता है कि कोरोना काल में देश से प्याज का निर्यात काफी बढ़ गया था जिससे घरेलू आपूर्ति में कमी के कारण कीमतों में इजाफा हुआ।)

देश की राजधानी दिल्ली और आसपास के इलाकों में इस समय फ्लिप प्याज 40 रुपये प्रति किलो के ऊपर की रही है। वहीं आजादपुर एक्सप्रेस मंडी में सोमवार को प्याज का भाव 13.75 रुपये से लेकर 27.50 रुपये प्रति किलो था।

केंद्रीय केंद्रीय एवं उद्योग मंत्रालय के तहत आने वाले विदेश व्यापार महानिदेशालय की ओर से सोमवार को जारी एक अधिसूचना के मुताबिक, प्याज की सभी वेरायटी के एक्स पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी गई है। अधिसूचना में कहा गया है कि जेटिशनल एग्रीमेंट के प्रावधान इस अधिसूचना के तहत लागू नहीं होंगे।

जानकारी बताते हैं कि कोरोना काल में अप्रैल से जुलाई के जुलाई के दौरान प्याज का निर्यात पिछले साल के मुकाबले लगभग 30 फीसदी ज्यादा हुआ जिससे देश में प्याज की आपूर्ति में आगे कमी की आशंका से कीमत में इजाफा हुआ है क्योंकि दक्षिण भारत में भारी बारिश के कारण प्याज की फसल खराब हो गई है।

आजादपुर मंडी पोटैटो अनियन मर्चेंट एसोसिएशन यानी पोमा के जनरल सेक्रेटरी राजेंद्र शर्मा ने कहा कि एक्स प्रतिबंध प्रतिबंध अच्छा फैसला है इससे प्याज के दाम में वृद्धि पर विराम लगेगा। शर्मा ने कहा कि दक्षिण भारत में प्याज की फसल खराब होने से आपूर्ति में कमी का संकट बना हुआ है इसलिए सरकार को निर्यात पर प्रतिबंध के साथ-साथ प्रजनन करने पर भी विचार करना चाहिए।

बता दें कि पिछले साल भी त्यौहारी सीजन के दौरान प्याज का दाम आसमान चढ़ गया था। दिल्ली सहित देश के अन्य भागों में प्याज 150 रुपये किलो बिकने लगा था और घरेलू आपूर्ति बढ़ाने के लिए पूर्व प्रतिबंध सहित तमाम उपायों के साथ-साथ विदेशों से प्याज आयात करने का फैसला लिया गया था।

पीएमजे-एसकेपी



Source link