कई लोग मुंबई आकर नाम कमाते हैं …

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रानौत + शिवेज़ का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। एक्ट्रेस के के Wordake 'वाले बयान पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री कोटव ठाकरे ने बगैर नाम के लक्ष्य के लिए (उद्धव ठाकरे ने कंगना रनौत) साधा है। महाराष्ट्र सीएम ने कहा है कि कई लोग मुंबई आते हैं और नाम कमाते हैं। लेकिन इसके लिए मुंबई का कर्ज नहीं चुकाना चाहिए था।

सोमवार को विधानसभा में मुख्यमंत्री कोटव ठाकरे ने तंज कसते हुए कहा कि कुछ लोग उस शहर के प्रति कृतज्ञता नहीं हैं जहां से वे अपना रोजगार, काम धंधा शुरू करते हैं। सदन में पूर्व शिवसेना विधायक और मंत्री अनिल राठौर को श्रद्धांजलि देने के लिए आयोजित शोक प्रस्ताव पर बोलते हुए सीएम ठाकरे (उद्धव ठाकरे पर कंगना रनौत) ने कहा कि '' कुछ लोग उस शहर के प्रति कृतज्ञ होते हैं जहां पर वे जीविकोपार्जन करते हैं लेकिन कुछ लोग नहीं होते हैं। '' मालूम हो कि शिवसेना विधायक अनिल राठौर का हाल ही में ह्रदय गति के रुक जाने के कारन निधन हो गया था।

पूरा विवाद क्या है?

हालांकि कंगना पर सीएम कोटव ठाकरे का हमला अप्रत्याशित नहीं था। बीते कई दिनों से कंगना रनौत + शिवसेना का विवाद टेलीविज़न न्यूज़ चैनलों से लेकर अखबारों तक सुर्ख़ियों में है। इसके पीछे का कारण कंगना रनौत के द्वारा मुंबई की तुलना पाक अधिकृत कश्मीर (टैग) से करने का है। कंगना ने अपने एक बयान में मुंबई के लिए कहा था कि ये पाक अधिकृत कश्मीर (Wordake) जैसे लगने लगा है और उन्हें मुंबई पुलिस से सुरक्षा नहीं बल्कि डर है।

कंगना के इस बयान के बाद से ही शिवसेना उनपर कड़ी है। सबसे पहले महाराष्ट्र के गृह मंत्री ने इसको लेकर कंगना पर हमला बोलते हुए कहा कि अगर कंगना को मुंबई में डर लगता है तो वह यहां न आए। इसके बाद शिवसेना के राज्यसभा सासंद संजय राउत ने भी इस बयान को लेकर कंगना पर तीखा हमला बोला। राउत ने इस बयान के लिए कंगना से माफ़ी की मांग की। इस बीच कंगना ने एलान कर दिया कि वो 9 सितंबर को मुंबई आ रही हैं और किसी में हिम्मत है तो उन्हें रोककर दिखाया।

कंगना को मिली वाई + और की सुरक्षा

सोमवार को कंगना द्वारा मुंबई पुलिस पर पिके गए तमाम सवालों के बीच केंद्रीय गृह मंत्रालय ने उन्हें वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की है। कंगना को यह सुरक्षा हिमाचल प्रदेश सरकार की सिफारिश पर दी गई है। इसके पीछे का कारण कंगना द्वारा दिए गए मुंबई पुलिस पर अविश्वास वाले बयान को ही बताया गया है।

कंगना को Y + श्रेणी की सुरक्षा देने पर महाराष्ट्र के राहत और पुनर्वास मंत्री विजय वेट्टीवार ने केंद्र पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि केंद्र का फैसला राजनीति से प्रेरित है। महाराष्ट्र सरकार में मंत्री विजय वेट्टीवार ने कहा, ना ना कंगना भाजपा का ता तोता ’हैं। मंत्री ने कहा, ने ंग कंगना को सुरक्षा देकर केंद्र और भाजपा ने मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र के खिलाफ की गई उनकी टिप्पणी का समर्थन किया है। यह राज्य के लोगों के साथ विश्वासघात है। '

Source link