business

सीएम नीतीश पर तेजस्वी का वार, बोले- उन्होंने युवाओं की दो पीढ़ियों का बेरोजगार कर दिया

पटना। राजद नेता व बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने एक बार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला है। राजद नेता तेजस्वी यादव ने शुक्रवार को एक ट्वीट के जरिये सीएम नीतीश पर बेरोजगारी को लेकर हमला बोला है। सूबे के मुख्य विपक्षी दल राजद के नेता तेजस्वी यादव ने बेरोजगारी और पलायन को लेकर नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा है कि बिहार के सीएम नीतीश कुमार जी से आप उनके कर कमलों द्वारा बिहार को सौंपी गई रिकॉर्ड रिकॉर्ड बेरोजगारी और पलायन पर सवाल करेंगे तो वह ग़ुस्से से लाल हो जायेंगे, क्योंकि युवाओं की दो पीढ़ियां बर्बाद करने के बाद जवाब देने के लिए कुछ नहीं ही है।

कोरोना काल में स्वास्थ्य सेवाओ, पलायन जैसे बुनियादी मुद्दों पर लगतार राज्य सरकार को घेरते आये तेजस्वी यादव ने शुक्रवार को नीतीश सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सरकार ने बिहार को बेरोजगारी का सबसे बड़ा केंद्र बना दिया है। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे तेजस्वी यादव ने कहा कि सरकार अब बेरोजगारी के मुद्दों पर बात करने से भी डरती है।

एक ट्वीट के जरिये अगर बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि सरकार राज्य के युवकों को भ्रमित कर रही है। और छीन ली गई। पुराने उद्योग धंधे बंद हो गए। एक भी नया कारखाना खुला नहीं। ऐसे में रोजगार का अवसर कहां से पैदा होगा। ऊपर से सरकार से इस मसले पर बात करने की कोशिश करने पर सत्ता में बैठे लोग पोल खोल नहीं रहे, लिहाजा वह इस मसले की चर्चा नहीं करते।

इसके अलावा राजद नेता ने एक फेसबुक पोस्ट के साथ भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला। तेजस्वी यादव ने कहा, 'युवाओं का वर्तमान और पिछला बर्बाद करने वाले आदरणीय नीतीश कुमार जी … आपको यह करबद्ध प्रार्थना है कि आप दलगत राजनीति से ऊपर उठकर बिना डरे बेरोजगारी, पलायन और रोजगार सृजन जैसे सबसे अधिक प्रासंगिक और ज्वलंत मुद्दे पर ईमानदारी से बोलिए। ! '

बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बेरोजगारी के मोर्चे पर निशाना साधते हुए कहा कि, ारी बिहार में बेरोजगारी दर सबसे अधिक है! 46.6% बेरोजगारी दर का अर्थ है कि बिहार का हर दूसरा युवा बेरोजगार है… .जिन फर्भर लोगों के पास संविदा के नाम पर रोजगार है, वह भी उसे नियमित किए जाने की माँग को लेकर सड़कों पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं! किसने परीक्षा दी वो नतीजों के लिए और जिनके नतीजे आ गए कि वो सड़कों के लिए आवाज़ उठा रहे हैं! '



Source link

Leave a Reply