प्रधान के सपोर्ट में उतरीं शिबानी दांडेकर, बोलीं- सुशांत से प्यार किया यही उसका कसूर है

सुशांत सिंह राजपूत (सुशांत सिंह राजपूत) केस मामला में जहां एक तरफ ज्यादातर लोग रिया चक्रवर्ती को गुनहगार मान रहे हैं, तो वहीं कुछ लोग रिया का समर्थन करते हुए भी दिखाई दे रहे हैं। पहले विद्या बालन ने शासक को सपोर्ट किया और अब इस लिस्ट में मॉडल और एक्ट्रेस शिबानी दांडेकर (शिबानी दांडेकर) का भी नाम जुड़ गया है। शिबानी मीडिया पर मीडिया ट्रायल को लेकर लक्ष्य साधती हुई नजर आ रही हैं। बता दें शिबानी दांडेकर जो एक्टर फरहान अख्तर की गर्लफ्रेंड भी हैं, वो रिया चक्रवर्ती की बेहद खास दोस्त हैं। सुशांत सिंह राजपूत के निधन के कुछ दिनों बाद रिया चक्रवर्ती को शिर्ब दांडेकर के साथ प्रदर्शन किया गया था। शिबानी ने अपने इंस्टाग्राम पर एक लंबा चौड़ा नोट शेयर करते हुए प्रधान के लिए न्याय की मांग कर रखी है।

शिर्ब दांडेकर (शिबानी दांडेकर) ने प्रधान के लिए न्याय की गुहार लगाते हुए कहा है कि उसका गुनाह सिर्फ इतना है कि सुशांत से वो प्यार किया करती थी, और बुरे दौर में हर पल उसके साथ हो रही है। शिर्बी ने अपने पोस्ट में लिखा, जब शासक 16 साल की थी उस समय से मैं रिया चक्रवर्ती को जानती हूं। जीवन से भरी हुई, वाइब्रेंट, मजबूत, जिंदादिल और ब्राइट स्पार्क। शिबानी के अनुसार शासक और उसके परिवार की पर्सनैलिटी पिछले कुछ महीनों में बिलकुल विपरीत नजर आ रही हैं। वे लोग इतने दयालु और गर्मजोशी से भरे हुए थे, ऐसे लोग मिल पाना भी मुश्किल है, इन दिनों इस तरह का कष्ट झेल रहे हैं, जो सोच से भी परे है।

यह भी पढ़ें: –कंगना रनौत बोलीं-रणवीर सिंह, रणबीर कपूर, विक्की कौशल करवाएं अपना ड्रग टेस्ट

अपने पोस्ट में शिबानी (शिबानी दांडेकर) ने आगे लिखा, मीडिया प्रमुख के साथ कैसे गिद्धों जैसा व्यवहार कर रहा है, ये हम सब देख रहे हैं, ऐसा लग रहा है जैसे किसी डायन का शिकार हो रहे हैं। एक परिवार जो बेगुनाह है कि पर इल्जम लग रहे हैं, और इस हद तक टॉर्चर किया जा रहा है कि यह टूट जाता है। मौलिक मानव अधिकार जो उसके साथ भी छीन लिया गया है, क्यों मीडिया, जूरी, जज और जल्लाद की भूमिका निभा रही है। पत्रकारिता की मौत और मानवता का बेहद ही भरावह रूप हमें देखने को मिल रहा है। क्या गुनाह था उसका।

शिर्बी (शिबानी दांडेकर) ने लिखा, एक लड़के से वो प्यार करती थी, लड़के के बुरे दिनों में उसकी देखभाल की गई, उसकी जिंदगी को रोक दिया बस उसके साथ रहने के लिए। और हम क्या बने जब लड़के ने ली को फांसी दी थी तो? शिबानी ने लिखा है कि ये सबसे रिया की मां की सेहत खराब हो रही है, उन्होंने खुद देखा है। प्रधान के पिता ने 20 साल तक देश की सेवा की है, उन पर भी इन सबका बेहद प्रभाव पड़ा है। उसके भाई को बहुत जल्दी बड़ा और कितना मजबूत होना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें: – सुशांत केस: ड्रग्स मामले में बिलियन और स्नूकर खिलाड़ी ऋषभ ठक्कर से योग्यता

Source link