सेहत

दिल पर भारी पड़ सकता है प्रोसेस्ड फूड, हो सकती है समय से पहले मौत: स्टडी

मौजूदा समय में शारीरिक (Physically) और मानसिक (Mentally) रूप से स्वस्थ रहना सबसे ज्यादा जरूरी है. खुद को स्वस्थ रखने के लिए एक अच्छी लाइफस्टाइल और हेल्दी फूड्स का सेवन बहुत ही जरूरी हैं. हम जिन चीजों का सेवन करते हैं, उन पर ही हमारी फिटनेस निर्भर करती है. डॉक्टरों की मानें प्रोसेस्ड फूड (Processed Food) हेल्थ के लिए बिल्कुल अच्छा नहीं होता और हमें इसे कम से कम खाने की कोशिश करनी चाहिए. इंडियन एक्प्रेस की खबर के मुताबिक कई लोग प्रोसेस्ड फूड खाना काफी पसंद करते हैं जिनमें पिज्जा, बर्गर, शुगर युक्त स्नैक्स, केक आदि शामिल हैं. न्यूज18 के आज के स्पेशल पॉडकास्ट में हम प्रोसेस्ड फूड के खतरों की बात कर रहे हैं.

American Journal of Clinical Nutrition में पब्लिश एक जर्नल के मुताबिक शुगर और प्रिजरवेटिव्स युक्त इन अल्ट्रा प्रोसेस्ड फूड्स को खाने से हार्ट संबंधी रोगों का खतरा बढ़ रहा है. सिर्फ इतना ही नहीं जर्नल के मुताबिक इनका सेवन करने से समय से पहले मौत (Premature Death) की संभावना भी बनी रहती है. इनसाइडर की एक रिपोर्ट के अनुसार इटली के शोधकतार्ओं के एक ग्रुप ने 35 वर्ष और उससे अधिक उम्र के 24,325 पुरुष और महिलाओं की लाइफस्टाइल को 10 साल तक फॉलो किया और कुछ आंकड़े इकट्ठा किए. इसमें उन पुरुष और महिलाओं की खाने की आदतें और हेल्थ का विवरण मौजूद था.

यह भी सुनें: आईवीएफ तकनीक दे सकती है आपको संतान सुख, पर पहले जान लें ये खास बातें

इस रिपोर्ट से पता चला कि जिन लोगों ने अधिक मात्रा में अल्ट्रा प्रोसेस्ड फूड्स का सेवन किया था उनमें कार्डियोवास्कुलर रोग, हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा अधिक दिखाई दिया, जबकि प्रोसेस्ड फूड का सेवन न करने वालों में यह खतरा कम था. जिन प्रतिभागियों ने अधिक अनहेल्दी खाना खाया, उन्हें अल्ट्रा प्रोसेस्ड फूड के रूप में अपने दैनिक कैलोरी का कम से कम 15 प्रतिशत ही प्राप्त हुआ. प्रोसेस्ड फूड का सेवन करने पर एक दिन में 300 से 1250 कैलोरी शरीर इनटेक करता है.

यह भी सुनें: Birthday Special: उदय प्रकाश जब कहते हैं, ‘मैं मिसरी घुला दूध हूं मीठा’

इस प्रकार, उस श्रेणी के लोगों को अपने दूसरे साथियों की तुलना में हृदय रोग से मरने की संभावना 58 प्रतिशत अधिक थी, जो कम से कम अल्ट्रा प्रोसेस्ड भोजन का सेवन करते थे. उनमें स्ट्रोक या एक अन्य प्रकार के सेरेब्रोवास्कुलर रोग से मरने की संभावना 52 प्रतिशत अधिक थी. पहले से किए गए अध्ययनों में भी यह पता चला है कि अल्ट्रा प्रोसेस्ड फूड अधिक स्वादिष्ट होते हैं, जिससे लोगों को अधिक भूख लगती है. वहीं अधिक खाना खाने से वजन बढ़ने की संभावना भी बनी रहती है.



Source link

Leave a Reply