सेहत

कैंसर का संकेत भी हो सकती है गले की खराश, हल्‍के में न लें

कोरोना महामारी के दौर में लोग अपनी सेहत को लेकर ज्‍यादा चिंतित रहने लगे हैं. ऐसे में सर्दी, खांसी, बुखार भी हो तो दिल डरने लगता है. हालांकि कई बार मौसम में बदलाव और कुछ अन्‍य कारणों से भी सेहत पर बुरा असर पड़ता है. इसी में से एक है गले में खराश की समस्‍या. यह जब ज्‍यादा बढ़ जाती है, तो बोलन और खाना निगलने में भी काफी दिक्‍कत होती है. ऐसे में कुछ आसानघरेलू उपाय अपना कर इसे दूर किया जा सकता है. अगर आप भी गले की खराश से परेशान हैं, तो ये उपाय अपना सकते हैं-

गले में खराश के कारण
गले में दर्द होना आम बात है. कई बार सर्दी, फ्लू और अन्य वायरल संक्रमण इसकी वजह बनते हैं. ज्‍यादातर गले में खराश, संक्रमण या शुष्क हवा की वजह से हो सकता है. मगर जब यह ज्‍यादा बढ़ जाए तो मुश्किल होती है.

ये भी पढ़ें – कम होगा बीमारियों का खतरा, 50 की उम्र के बाद ऐसी रखें अपनी डाइट-बैक्टीरिया के संक्रमण से भी गले में खराश हो सकती है. कई बार एलर्जी की वजह से भी खराश हो सकती है.

-शुष्क हवा मुंह और गले से नमी सोख लेती है. इससे भी गले में सूखापन महसूस होता है. इसका मुख्‍य कारण है सर्दियों में चलने वाला हीटर. इससे निकलने वाली हवा सबसे अधिक शुष्क होती है.

-कई बार सिगरेट और तंबाकू का धुआं, अन्‍य रसायनों और वायु प्रदुषण की वजह से भी गले में जलन होने लगती है.

-कई बार गले में खराश का कारण कैंसर होने का संकेत भी हो सकता है. गले, जीभ का एक ट्यूमर गले में खराश का सामान्य कारण है. हालांकि इस वजह से होने वाली खराश कुछ दिनों के बाद भी दूर नहीं होती.

ये भी पढ़ें – Kidney Care Tips: किडनी की देखभाल के लिए जरूरी है वजन पर काबू

गले में खराश के लिए घरेलू उपचार
हेल्‍थलाइन की एक रिपोर्ट के मुताबिक आप घर पर कुछ घरेलू उपाय अपना कर गले में खराश को दूर कर सकते हैं. इसके लिए जरूरी है कि अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को संक्रमण से लड़ने का मौका देने के लिए भरपूर आराम करें.

-गर्म पानी और 1/2 से 1 चम्मच नमक के मिश्रण से गरगरा करें.
-गर्म तरल पदार्थ पीएं. इसमें आप शहद के साथ गर्म चाय, सूप या नींबू के साथ गर्म पानी लें सकते हैं. इसके अलावाा हर्बल चाय भी खासतौर पर गले की खराश को दूर करने में मददगार होती है.
-हवा में नमी बनाए रखने के लिए ह्यूमिडिफायर चलाएं. यह हवा में नमी बनाए रखता है. इससे आराम मिलेगा.
-ज्‍यादा बोलने से बचें जब तक कि गले में ज्‍यादा दर्द, खराश रहे. इससे भी आराम मिलेगा.



Source link

Leave a Reply