सेहत

रोजाना ये चार योगासन करने से बढ़ेगी आंखों की रोशनी | health – News in Hindi

रोजाना ये चार योगासन करने से बढ़ेगी आंखों की रोशनी

हमें आपनी आंखों की रोशनी को बढ़ाने के लिए योग करना चाहिए.

कंप्यूटर,(computer) लैपटाप (Laptop) और मोबाइल (Mobile) से निकलने वाली ब्लू-रे हमारी आंखों (Eyes)की रोशनी को कम करती हैं. ऐसे में योग (Yoga)करके आंखों की रोशनी बढ़ाई जा सकती है.

कंप्यूटर (computer) और लैपटाप (Laptop) में दिन भर काम करने या ज्यादा समय तक मोबाइल (Mobile) चलाने से सिर और आंखों (Eyes) में दर्द आम समस्या बन गई है. मोबाइल, कंप्यूटर और लैपटाप के स्क्रिन से निकलने वाली ब्लू-रे आपकी आंखों को नुकसान पहुंचाती हैं. खासकर रोशनी कम करती हैं. आज की बदलती लाइफस्टाइल (Lifestyle) के कारण हम कंप्यूटर और लैपटाप पर काम करना छोड़ नहीं सकते क्योंकि ये चीजें हमारी जरूरत के साथ ही जीवनयापन का साधन बन चुकी हैं. इसलिए हमें आपनी आंखों की रोशनी को बढ़ाने के लिए उपाय करने चाहिए. आज हम आपको कुछ योगासनों के बारे में बता रहे हैं, जिनको करके आप अपने आंखों की रोशनी को बढ़ा सकते हैं…..

1.शवासन
इस आसन को करने के लिए पीठ के बल लेट जाएं. आसान करते वक्त अपने मन को शांत स्थिति में रखें. अब पैरों को ढीला छोड़ें और हाथों को शरीर से सटाकर कर बगल में रखें. ध्यान रखें कि आपका पूरा शरीर फर्श पर स्थिर हो. इस आसन को नियमित रूप से करने से शरीर की थकान दूर होती है और आंखों की रोशनी भी बढ़ती है.

2.अनुलोम विलोमइस आसन को करने के लिए पालकी मारकर बैठ जायें. अब अपनी कमर और गर्दन को सीधी कर लें. इसके बाद आंखें बंद करें.अब अपने सीधे हाथ को नासारन्ध्रों पर ले जाएं. अब अंगूठे से दाएं नासारन्ध्र (नाक के छिद्र) को बंद कर लें. और बाएं नासारन्ध्र से धीरे-धीरे सांस को बाहर की ओर निकालें. सांस छोड़ने के बाद बाएं नासारन्ध्र से ही सांस लेना शुरु करें. ज्यादा से ज्यादा सांस भरने के बाद बाएं नासारन्ध्र को अंगुलियों की मदद से बंद कर लें और अंगूठे को दाएं नासारन्ध्र से हटाकर दाईं नासिका से सांस को धीरे-धीरे बाहर निकालें. इस प्रक्रिया 3 से 5 मिनट दोहराये. इस आसान को करने से आंखों की थकावट दूर होती है और रोशनी बढ़ती है.

3. त्राटक आसन
यह आसन अंधेरे में किया जाने वाला आसन है. इसलिए रात का समय बेहतर है. यदि आप इसे दिन में करते हैं तो कमरे में अंधेरा कर लें. अब कमरे में मोमबत्ती जलाकर प्राणायाम की मुद्रा में बैठ जाएं. अब आपको बिना पलकें झपकाए एकटक से मोमबत्ती को देखना है. इसके बाद आंखे बंद करके ओम का उच्चारण करें और फिर आंख खोलें. इस प्रक्रिया को कम से कम 3 बार करें. आखिर में अपनी हथेलियों को आपस में रगड़ें और फिर उस गर्म हथेली से आंखों को स्पर्श करते हुए आंख खोलें. ध्यान रखें कि आंख खोलने के दौरान आपकी नजर आपकी नाक पर ही होनी चाहिए. इस आसान को सप्ताह में कम से कम 3 बार जरूर करें.

4.सर्वांगासन
सबसे पहले जमीन पर पीठ के बल लेट जाएं और अपने हाथों को शरीर के साइड में रख लें. अब दोनों पैरो को धीरे-धीरे ऊपर करें. तकऱीबन 120 डिग्री पर पैर ले जाकर और हाथों को उठाकर कमर के पीछे लगा लें. इस पोजिशन में कुछ सेकण्ड रुकने के बाद फिर धीरे-धीरे पैर को नीचे लाएं. इस आसान को करने से आंखों के आसपास की मांसपेशियों में रक्त संचार बढ़ता है, जिससे आंखों की रोशनी अच्छी होती है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)



Source link

Leave a Reply